1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. प्रधानमंत्री ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का किया शिलान्यास, कहा 70 साल बाद यूपी को मिला उसका हक़

प्रधानमंत्री ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का किया शिलान्यास, कहा 70 साल बाद यूपी को मिला उसका हक़

यह एयरपोर्ट एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। वहीं दुनिया में यह चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। नोएडा इण् इंटरनेशनल एयरपोर्ट के प्रथम चरण के विकास के लिए 1,334 हेक्टयर (लगभग 3,300 एकड़) भूमि का अधिग्रहण किया गया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जेवर में बनने जा रहे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास कर उत्तर प्रदेश के साथ देश को भी बड़ी सौगात दी है। यह एयरपोर्ट एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। वहीं दुनिया का यह चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के प्रथम चरण के विकास के लिए 1,334 हेक्टयर (लगभग 3,300 एकड़) भूमि का अधिग्रहण किया गया है।

आपको बता दें कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का विकास दो स्टेज में किया जाएगा। प्रथम स्टेज में यह एयरपोर्ट दो रन-वे का होगा। दूसरे स्टेज में बढ़ कर पाँच रन-वे का हो जाएगा। दो रन-वे का यह एयरपोर्ट 70 मिलियन यानी सात करोड़ यात्रियों की वार्षिक क्षमता का होगा। इस पर लगभग 30 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे।

यात्रियों की क्षमता की दृष्टि से नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का विकास चार चरणों में होगा। प्रथम चरण में वर्ष 2023-24 में 12 मिलियन यानी एक करोड़ 20 लाख यात्रियों की वार्षिक क्षमता का यह एयरपोर्ट प्रारम्भ में एक रन-वे का होगा। वर्ष 2031 में बढ़कर 30 मिलियन यानी तीन करोड़ यात्रियों की वार्षिक क्षमता का और दो रन-वे का हो जाएगा। वर्ष 2036 में यह 50 मिलियन और वर्ष 2040 में यह 70 मिलियन यानी सात करोड़ यात्रियों की वार्षिक क्षमता का हो जाएगा। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का प्रथम चरण वर्ष 2023-24 में जनता को समर्पित होगा और यहां से पहली उड़ान प्रारम्भ होगी। 6200 हेक्टेयर में बनने वाला इंटरनेशनल एयरपोर्ट एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। इस अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के पहले चरण में 1334 हेक्टेयर में दो रनवे बनेंगे।

पीएम मोदी ने इस दौरान लोगों को भी संबोधित किया उन्होंने अपने संबोधन में इस एयरपोर्ट से होने वाले फायदे बताए, पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का नया भारत आज एक से बढ़कर एक बेहतरीन आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है। बेहतर सड़कें, बेहतर रेल नेटवर्क, बेहतर एयरपोर्ट ये सिर्फ इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स ही नहीं होते बल्कि ये पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देते हैं, लोगों का जीवन पूरी तरह से बदल देते हैं पीएम मोदी ने आगे कहा कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट उत्तरी भारत का लॉजिस्टिक गेटवे बनेगा। ये इस पूरे क्षेत्र का नेशनल गतिशक्ति मास्टरप्लान का एक सशक्त प्रतिबिंब बनाएगा। वहीं विपक्ष पर पीएम मोदी हमलावर दिखे, उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों ने जिस उत्तर प्रदेश को अभाव और अंधकार में बनाए रखा, पहले की सरकारों ने जिस उत्तर प्रदेश को हमेशा झूठे सपने दिखाए, वही उत्तर प्रदेश आज राष्ट्रीय ही नहीं, अंतरराष्ट्रीय छाप छोड़ रहा है। 70 साल बाद यूपी को उसका हक़ मिला।

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ केंद्रीय नगर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी, प्रदेश के परिवहन मंत्री अशोक कटारिया, नोएडा सांसद डॉ. महेश शर्मा समेत अन्य नेता मौजूद रहे।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X