1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. जिस पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास किया था कभी वहां विमान से उतरूंगा सोचा न था – पीएम मोदी

जिस पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास किया था कभी वहां विमान से उतरूंगा सोचा न था – पीएम मोदी

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी और यूपी के अन्य बड़े अधिकारी भी समारोह में मौजूद थे।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

उत्तर प्रदेश, 16 नवम्बर। यूपी के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे  (Purvanchal Expressway) का आज पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आधिकारिक उद्घाटन किया। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे यूपी के पूर्वांचल क्षेत्र के लिए कई मायनों में महत्वपूर्ण है। ये एक्सप्रेस वे आने वाले दिनों में यूपी के आर्थिक ढांचे की रीढ़ साबित होगा। यूपी के नौ जिलों को जोड़कर इसे तैयार किया गया है। इसके दोनों ओर औद्योगिक ईकाईयां बनाई जाएंगी। इससे क्षेत्र के लोगों को रोजगार मिलेगा। साथ ही पलायन भी रुकेगा। प्रदेश मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी (Adityanath yogi) ने कार्यक्रम की शुरूआत कर यूपी के अन्य नए एक्सप्रेस वे के निर्माण कार्यों के बारे में भी विस्तार से चर्चा की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का आज उद्घाटन किया। पीएम मोदी ने एक्सप्रेस वे के उद्घाटन के बाद देश की जनता को संबोधित किया। समारोह में बोलते हुए मोदी ने कहा कि वे एक्सप्रेस वे यूपी के विकास, प्रगति और नए यूपी का एक्सप्रेस वे है। इसके शिलान्यास के समय मैंने सोचा नहीं था कि कभी यहां पर प्लेन से उतरूंगा। मैं आज यूपी के लोगों को ये एक्सप्रेस वे समर्पित कर रहा हूं। यूपी के पूर्वी हिस्से में देश के विकास का उतना लाभ नहीं मिला जितना मिलना चाहिए था। यहां की पहले की राजनीति ने यूपी के सर्वांगीण विकास पर ध्यान नहीं दिया। यहां के लोगों को गरीबी और माफिया के हवाले कर दिया था, लेकिन आज की स्थिति काफी अलग है। ऐसे में मैं योगी व उनकी टीम को इस कार्य के लिए बधाई देता हूं।

देश की इमरजेंसी के समय ये एक्सप्रेस वे एक और ताकत बन गया है। डिफेंस कोरीडोर को नजरअंदाज करने वालों के लिए एक करारा जवाब होगा। यूपी में सात आठ पहले की स्थिति बेहद खराब थी, लेकिन जब यूपी की जनता ने हमारा साथ दिया तो मैंने यहां के विकास के लिए कार्य किए। गरीबों को पक्के घर में, शौचालय बनवाएं , बिजली प्रदान की गई। पहले की सरकार ने मेरा साथ नहीं दिया, सार्वजनिक रूप से मेरे साथ खड़े होने से भी शर्म आती थी। काम का हिसाब देने के लिए उनके पास कुछ नहीं था। लेकिन यूपी की जनता के साथ हुई इस नाइंसाफी को हमनें दूर करने का प्रयास किया है।

आज यूपी के विकास कार्यों को देखकर में कह सकता हूं यूपी का भाग्य तेज गति से बदलना शुरु हो गया। पहले यूपी में बिजली आती ही नहीं थी। उस परेशानी को कौन भूल सकता है। यहां की कानून व्यवस्था बद्दतर थी, अस्पताल खराब थे। यूपी की सड़के खराब होती थी। लेकिन आज नई सड़के और राह बन रही है। पिछले वर्षों में हजारों गांवों को नई सड़कों से जोड़ा गया है। अब आपके सहयोग और यूपी सरकार की भागीदारी से यूपी का सपना साकार होते दिख रहा है।

इस एक्सप्रेस वे का लाभ गरीब और मध्यम वर्ग को भी होगा, किसान, श्रमिक और उद्यमी, सभी वर्ग के लोगों को इसका फायदा होगा। निर्माण के दौरान भी हजारों लोगों को रोजगार दिया गया था। अब लाखों नए रोजगार का ये सर्जन करेगा। यूपी में पहले एक शहर दूसरे शहर से काफी अलग था। दूरी काफी ज्यादा था। पूर्व के लोगों के लिए लखनऊ पहुंचना भी महाभारत के जैसा होता था। पिछले मुख्यमंंत्री केवल अपने गांव और घरों की ओर ही ध्यान देते थे। लेकिन आज यूपी सरकार यूपी के सभी भाग को जोड़ रही है। इस मार्ग से दिल्ली से बिहार आना जाना भी आसान हो जाएगा।

340 केिलो मीटर के एक्सप्रेस वे कि विशेषता ये ही नहीं है कि ये केवल नौ जिलों को ही जोड़ेगा इसके अलावा भी ये लखनऊ से उन शहरों को जोड़ेगा जहां विकास की बड़ी संभावना है। इसके लिए यूपी सरकार 22 हजार करोड़ से ज्यादा खर्च कर रही है। यूपी में नए एक्सप्रेस वे भी यूपी को नई विकास गाथा बनाने में मदद करेंगे।

पीएम के उद्घाटन समारोह की सभी व्यवस्थाओं को मुख्यमंत्री योगी ने खुद ने संभाला था। मोदी के उद्घाटन के बाद वायु सेना के 30 एयरक्राफ्ट 45 मिनट के एयर शो का प्रदर्शन किया। आपको बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2018 में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास किया था। कोरोना की वजह से इसका निर्माण कार्य बाधित रहा। लेकिन फिर भी यूपीडा ने इस कार्य को 36 माह में पूरा करवा लिया था।

21 हजार करोड़ से तैयार हुआ एक्सप्रेस-वे

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे देश की धरोहर होगा, व प्रदेश के आर्थिक ढांचे की रीढ़ की हड्डी साबित होगा। इसके दोनों तरफ मशीनरी फूड प्रोसेसिंग और मिल्क डेयरी के बड़े औद्याोगिक लगाए जाएंगे। इससे रोजगार बढ़ेगा। एक्सप्रेस-वे के निर्माण पर अब तक 21 हजार करोड़ रुपये से अधिक का खर्च हो चुका है। यूपी के साथ ही इस एक्सप्रेस वे से झारखंड व बिहार के लोगों भी फायदा होगा।  एक्सप्रेस वे से गाजीपुर, अंबेडकरनगर, मऊ, आजमगढ़, सुल्तानपुर से दिल्ली का रास्ता कम होगा और पर्यटन का व्यवसाय भी बढ़ेगा।

एक्सप्रेस वे की खूबियां 

  • 6 लेन का बना एक्सप्रेस वे, आने वाले दिनों में 8 लेन तक बढ़ाया जा सकता है
  • 9 जिलों को जोड़ेगा ये पूर्वांचल एक्सप्रेस वे
  • युद्ध के समय फाइटर प्लेन उतर सकते हैं इस पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर,
  • योगी के ड्रीम प्रोजेक्ट का हिस्सा है पूर्वांचल एक्सप्रेस वे
  • दस लाख लोगों को करेंगे सफर
  • लंबाई करीब 341 किलोमीटर

देखें  हमारी रिपोर्ट

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X