1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. पीएम मोदी ने त्रिपुरा के 1.47 लाख लोगों के खाते में PMAY-G की पहली किस्त जारी की

पीएम मोदी ने त्रिपुरा के 1.47 लाख लोगों के खाते में PMAY-G की पहली किस्त जारी की

विकास को पहले सियासी चश्मे से देखा जाता था, इसलिए पूर्वोत्तर उपेक्षित था, आज देश के विकास को ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की भावना से देखा जाता है- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 14 नवंबर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों में विकास को सियासी चश्मे से देखा जाता था, जिसके चलते पूर्वोत्तर सदैव खुद को उपेक्षित महसूस करता था। अब देश के विकास को ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की भावना से देखा जाता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए से त्रिपुरा के 1.47 लाख से भी अधिक लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (PMAY-G) की पहली किस्त हस्तांतरित की। इस मौके पर लाभार्थियों के बैंक खातों में सीधे 700 करोड़ रुपये से भी अधिक जमा किए गए।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले दिल्ली में बंद दरवाजों के पीछे नीतियां बनाई जाती थीं और फिर इसमें पूर्वोत्तर को फिट करने के असफल प्रयास किए गए। पिछले 7 सालों में राष्ट्र ने एक नई मानसिकता, एक नया दृष्टिकोण तय किया है। अब नीतियां क्षेत्र की जरूरतों के मुताबिक बनाई जाती हैं।

इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि आज़ादी के इतिहास में पूर्वोत्तर और देश के आदिवासी सेनानियों ने देश के लिए अपना बलिदान दिया है। इस परंपरा को सम्मान देने के लिए इस विरासत को आगे बढ़ाने के लिए देश लगातार काम कर रहा है। इसी कड़ी में देश अब 15 नवंबर को हर साल भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाएगा।

त्रिपुरा की अनूठी भू-जलवायु स्थिति को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री की पहल के बाद विशेष रूप से इस राज्य के लिए ‘कच्चा’ घर की परिभाषा बदल दी गई है, जिसके मद्देनजर ‘कच्चे’ घरों में रहने वाले इतनी बड़ी संख्या में लाभार्थी ‘पक्का’ घर बनाने के लिए निर्दिष्ट सहायता हासिल करने में सक्षम हो गए हैं।

कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि त्रिपुरा ने सीमित समय में नई व्यवस्थाएं कैसे खड़ी की जा सकती हैं ये करके दिखाया है। पहले कमीशन और भ्रष्टाचार के बिना काम नहीं होता था, लेकिन आज सरकारी योजनाओं का लाभ DBT के जरिए सीधे खातों में पहुंच रहा है। पहले काम के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे, अब तमाम सेवा और सुविधाएं सरकार खुद लोगों तक पहुंचा रही है। अब वहां सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग का लाभ मिल रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब त्रिपुरा को गरीब बनाए रखने वाली त्रिपुरा के लोगों को सुख-सुविधाओं से दूर रखने वाली सोच की त्रिपुरा में कोई जगह नहीं है। यहां अब डबल इंजन की सरकार पूरी ताकत से पूरी इमानदारी के साथ राज्य के विकास में जुटी है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दी गई पहली किश्त ने त्रिपुरा के सपनों को भी नया हौसला दिया है। वो पहली किश्त का लाभ पाने वाले करीब-करीब डेढ़ लाख परिवारों को सभी त्रिपुरावासियों को हृदय से बधाई देते हैं। इस मौके पर केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री और त्रिपुरा के मुख्यमंत्री ने भी शिरकत की।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X