1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संत ज्ञानेश्वर और संत तुकाराम पालकी मार्ग को 4 लेन बनाने का किया शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संत ज्ञानेश्वर और संत तुकाराम पालकी मार्ग को 4 लेन बनाने का किया शिलान्यास

4 लेन वाले इन खंडों के दोनों ओर ‘पालकी’ के लिए समर्पित पैदल मार्ग बनाए जाएंगे।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 08 नवंबर। भक्तों के पंढरपुर आवागमन को सुविधाजनक बनाने की कोशिश के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संत ज्ञानेश्वर महाराज पालकी मार्ग (एनएच-965) के 5 खंडों और संत तुकाराम महाराज पालकी मार्ग (एनएच-965जी) के 3 खंडों को 4 लेन बनाने के काम की आधारशिला रखी।

इन राष्ट्रीय राजमार्गों के दोनों ओर ‘पालकी’ के लिए समर्पित पैदल मार्ग का निर्माण किया जाएगा, जिससे भक्तों को परेशानी मुक्त और सुरक्षित मार्ग मुहैया होगा।

संत ज्ञानेश्वर महाराज पालकी मार्ग के दिवेघाट से लेकर मोहोल तक के करीब 221 किलोमीटर लंबे खंड और संत तुकाराम महाराज पालकी मार्ग के पतस से लेकर टोंदले-बोंदले तक के करीब 130 किलोमीटर लंबे खंड को 4 लेन का बनाया जाएगा। 4 लेन वाले इन खंडों के दोनों ओर ‘पालकी’ के लिए समर्पित पैदल मार्ग बनाए जाएंगे। इन 4 लेन और समर्पित पैदल मार्गों की अनुमानित लागत लगभग 6,690 करोड़ रुपये और लगभग 4,400 करोड़ रुपये से अधिक होगी।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने पंढरपुर तक आवागमन को बेहतर बनाने के उद्देश्य से कई राष्ट्रीय राजमार्गों पर 223 किलोमीटर से अधिक लंबी पूर्ण निर्मित और उन्नत सड़क परियोजनाएं भी राष्ट्र को समर्पित की। इन सड़क परियोजनाओं की अनुमानित लागत 1180 करोड़ रुपये से अधिक है। इन परियोजनाओं में म्हसवड-पिलीव-पंढरपुर (एनएच 548ई), कुर्दुवाड़ी-पंढरपुर (एनएच 965सी), पंढरपुर-संगोला (एनएच 965सी), एनएच 561ए का तेम्भुरनी-पंढरपुर खंड और NH 561ए के पंढरपुर-मंगलवेढा-उमाडी खंड शामिल हैं।

इस मौके पर केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी मौजूद रहे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X