1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. अयोध्या में राम के नाम पर चल रही लूट, चंदे की राशि से हो रहा घोटाला : प्रियंका गांधी वाड्रा

अयोध्या में राम के नाम पर चल रही लूट, चंदे की राशि से हो रहा घोटाला : प्रियंका गांधी वाड्रा

कांग्रेस की महासचिव व उत्तर प्रेदश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा चंदे के पैसों का दुरुपयोग कर कम कीमत की जमीनों को अधिक दामों में खरीदने का आरोप लगाया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

उत्तर प्रदेश, 23 दिसंबर। अयोध्या में राम मंदिर के लिए जमीन खरीद का मामला एक बार फिर से तूल पकड़ने लगा है। राम मंदिर के लिए खरीदी जमीन में हुई गड़बड़ी को उजागर करते हुए आज कांग्रेस की महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने एक प्रेसवर्ता में भाजपा पर निशाना साधा। प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रेसवार्ता में भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी की सरकार व राम मंदिर ट्र्स्ट के द्वारा लोगों के चंदे के पैसों के साथ दुरुपयोग कर रहे हैं, जो लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ है।

पढ़ें :- Uttar Pradesh : योगी सरकार का 5 सालों में निर्यात को दोगुना करने का लक्ष्य, औद्योगिक बुनियादी ढांचे में सुधार कार्य शुरु

कांग्रेस की ओर से आयोजित प्रेसवार्ता में यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के नाम पर लोगों की आस्था से खिलवाड़ का कार्य चल रहा है। राम मंदिर ट्रस्ट की जमीन खरीद मामले में घोटाले का आरोप लगाते हुए प्रियंका ने कहा कि वो प्रदेश की जनता के पैसों को ऐसे बर्बाद होने नहीं देंगी और इसके लिए आंदोलन करेंगी। साथ ही उन्होंने इसकी जांच पर भी कई सवाल खड़े किए और इस गड़बड़ी की जांच को सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में कराने की बात कही।

 

किस तरह से चल रहा है घोटाला 

प्रियंका गांधी वाड्रा ने बताया कि अयोध्या में दलितों की जमीनों को हड़पने का कार्य चल रहा है। लोगों ने राम मंदिर के नाम चंदा दिया है। अब ट्रस्ट लोगों के चंदे के पैसों से महंगे दामों पर जमीन खरीद रहा है। जिसका सीधा लाभ यूपी के भाजपा नेताओं को हो रहा है। उन्होंने बताया कि 2017 में 2 करोड़ में खरीदी गई जमीन को अब ट्र्स्ट ने करीब 26.50 करोड़ में खरीदा है।

इस जमीन का एक हिस्सा, जो करीब 10370 वर्ग मीटर का था उसे ट्रस्ट ने 8 करोड़ में खरीदा है। जबकि दूसरा हिस्सा जो करीब 12080 वर्ग मीटर हिस्से को रवि मोहन तिवारी नाम के व्यक्ति ने 2 करोड़ रुपये खरीदा, जिस दिन ये जमीन रवि मोहन ने खरीदी, ठीक उसी दिन कुछ मिनटों के बाद इस दूसरे टुकड़े को रवि मोहन तिवारी ने ट्रस्ट को 18.50 करोड़ में बेच दिया। तिवारी ने जो जमीन खरीदी है उसमें ट्रस्टी अनिल मिश्रा और अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय अयोध्या गवाह बने हैं। प्रियंका ने कहा ये घोटला साफ बताता है कि जनता के चंदे के पैसों का दुरुपयोग हो रहा है।

पढ़ें :- Uttar Pradesh : 100 दिनों में 20 हजार सरकारी नौकरियां, 50 हजार रोजगार देने की तैयारी में योगी सरकार

जांच पर भी उठे कई सवाल

इस मामले पर यूपी सरकार के द्वारा जांच कराए जाने की बात पर भी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कई सवाल खड़े किए हैं। प्रियंका ने कहा कि इसकी जांच जिला स्तरीय हो रही है, जबकि राम मंंदिर ट्र्स्ट का निर्माण सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आधार पर हुआ है, तो इसकी जांच भी सुप्रीम कोर्ट द्वारा की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि राम मंदिर के नाम पर अयोध्या में जमीन की लूट मची हुई है, भाजपा के पदाधिकारी, नेता और यूपी सरकार के अधिकारी सब इसमें संलिप्त हैं। लोग राम के नाम पर भ्रष्टाचार कर रहें हैं और देश के लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

पढ़ें :- Punjab Elections 2022 : प्रवासियों पर पंजाब सीएम चन्नी के बयान से चढ़ा राजनीतिक पारा, देखें चन्नी ने क्या कहा?

 

यूपी सरकार ने जांच के आदेश दिये 

अयोध्या के जमीन खरीद मामले को लेकर योगी सरकार ने जांच के आदेश दिये हैं। इस मामले की जांच विशेष सचिव राधेश्याम मिश्रा करेंगे। अयोध्या के कई अधिकारियों, नेताओं व उनके रिश्तेदारों पर जमीन खरीदने के आरोप लगे हैं। फिलहाल सरकार ने इस मामले में पांच दिनों के अंदर रिपोर्ट मांगी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...