1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. पंजाब सरकार ने लखीमपुर खीरी हिंसा में जान गंवाने वाले किसानों और पत्रकार के परिजनों को 50-50 लाख रु. के चेक बांटे

पंजाब सरकार ने लखीमपुर खीरी हिंसा में जान गंवाने वाले किसानों और पत्रकार के परिजनों को 50-50 लाख रु. के चेक बांटे

पंजाब कांग्रेस मंत्री रणदीप सिंह नाभा ने कहा कि पंजाब सरकार पहले ही चल रहे किसान आंदोलन के दौरान शहीद हुए 157 किसानों के हर पीड़ित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दे चुकी है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

चंडीगढ़, 23 अक्टूबर। पंजाब सरकार ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में बीते 3 अक्टूबर को हुई घटना में जान गंवाने वाले किसानों और एक पत्रकार के परिजनों को 50-50 लाख रुपये के चेक दिए। पंजाब के कृषि और किसान कल्याण मंत्री रणदीप सिंह नाभा ने लखनऊ में पीड़ित परिवारों के साथ मुलाकात की और उन्हें चेक सौंपे।

पढ़ें :- यूपी में श्रद्धा जैसा केस: दूसरे से शादी करने पर पूर्व प्रेमी ने महिला के किए 6 टुकड़े, गिरफ्तार

लखीमपुर खीरी की घटना के सम्बन्ध में सुप्रीम कोर्ट की ओर से की गई सू-मोटो कार्यवाही का स्वागत करते हुए और पीड़ितों के लिए न्याय को यकीनी बनाने के लिए समयबद्ध जांच की मांग करते हुए मंत्री नाभा ने कहा कि पंजाब सरकार ने कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का समर्थन किया है और हमेशा किसानों के साथ खड़ी है। रणदीप सिंह नाभा ने कहा कि पंजाब सरकार पहले ही चल रहे किसान आंदोलन के दौरान शहीद हुए 157 किसानों के हर पीड़ित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दे चुकी है।

गौरतलह है कि 4 किसान दलजीत सिंह पुत्र हरजीत सिंह, गांव-बजरां टाडा, तहसील-नानपारा, जि़ला बहरायच, गुरविन्दर सिंह पुत्र सुखविन्दर सिंह, गांव-नवी नगर मोहिरा, तहसील-नानपारा, जि़ला बहराइच, लवप्रीत सिंह पुत्र सतनाम सिंह, भवंत नगर (चोखरा फार्म), तहसील – पालिया, जनपद, लखीमपुर खीरी और नच्छत्तर सिंह पुत्र सूबा सिंह, नंबदार पुरवा, अमेठी, तहसील-दोराहा, जनपद, लखीमपुर खीरी के अलावा एक पत्रकार रमन कश्यप, निगासान, लखीमपुर खीरी (उत्तर प्रदेश) इस दुखद घटना में अपनी जान गंवा बैठे थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...