1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. संयुक्त किसान मोर्चा ने किया तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले का स्वागत

संयुक्त किसान मोर्चा ने किया तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले का स्वागत

संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रधानमंत्री को यह भी याद दिलाया कि किसान आंदोलन न केवल काले कानूनों को निरस्त करने के लिए था, बल्कि सभी कृषि उत्पादों की कानूनी गारंटी और सभी किसानों के लिए लाभकारी मूल्य के लिए भी था।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

प्रधानमंत्री के द्वारा राष्ट्र के संबोधन के बाद, तींनों कृषि कानूनों को वपस लेने का फैसला ले लिए गया है इसके बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की घोषणा का स्वागत किया है।

संयुक्त किसान मोर्चा के नेता बलबीर सिंह राजेवाल, डॉ. दर्शन पाल, गुरनाम सिंह चढूनी, हनान मौला, जगजीत सिंह डल्लेवाल, जोगिंदर सिंह उग्राहां, शिव कुमार शर्मा ‘काकाजी’, युद्धवीर सिंह ने एक संयुक्त बयान में कहा है, ” मोर्चा इस फैसले का स्वागत करता है और कानून की उचित प्रक्रिया के माध्यम से इस घोषणा के कार्यान्वयन का इंतजार करेगा।”

संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रधानमंत्री को यह भी याद दिलाया कि किसान आंदोलन न केवल काले कानूनों को निरस्त करने के लिए था, बल्कि सभी कृषि उत्पादों की कानूनी गारंटी और सभी किसानों के लिए लाभकारी मूल्य के लिए भी था। किसानों की यह अहम मांग अभी बाकी है। संयुक्त किसान मोर्चा सभी गतिविधियों पर ध्यान देगा, जल्द ही अपनी बैठक करेगा और अगले निर्णयों की घोषणा करेगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X