Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. राहुल गांधी के ‘लिंचिंग’ वाले बयान ने गरमाई राजनीति, बीजेपी का पलटवार

राहुल गांधी के ‘लिंचिंग’ वाले बयान ने गरमाई राजनीति, बीजेपी का पलटवार

बीजेपी के IT सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने कहा कि- "सिखों के खून-खराबे को सही ठहराते हुए मॉब लिंचिंग के जनक राजीव गांधी से मिलें।

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

नई दिल्ली, 21 दिसंबर। 2014 से पहले ‘लिंचिंग’ शब्द सुनने में भी नहीं आता था। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर एक बार फिर हमला बोला है। दरअसल हाल ही में पंजाब में हुई मॉब लिंचिंग की घटना के बाद से बीजेपी-कांग्रेस और अकाली दल आमने सामने हैं।

पढ़ें :- मोदी सरनेम केसः राहुल गांधी की 2 साल की सजा बरकरार, गुजरात हाईकोर्ट से भी नहीं मिली राहत, अब जाएंगे सुप्रीम कोर्ट  

 

पंजाब में मॉब लिंचिंग में 2 लोगों की हत्या

पंजाब में सोमवार को धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी के आरोप में एक युवक की हत्या का मामला सामने आया था। कपूरथला में लोगों की भीड़ ने निशान साहिब की बेअदबी का आरोप लगाते हुए एक युवक की बेरहमी से हत्या कर डाली। ये घटना तब हुई जब पुलिस आरोपी को हिरासत में थाने ले जा रही थी। वहीं इससे पहले शनिवार शाम को अमृतसर में गोल्डन टेंपल में बेअदबी करने की कोशिश में आरोपी युवक की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

बीजेपी का राहुल गांधी के लिंचिंग वाले बयान पर पलटवार

राहुल गांधी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी के IT सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने कहा कि- “सिखों के खून-खराबे को सही ठहराते हुए मॉब लिंचिंग के जनक राजीव गांधी से मिलें। कांग्रेस सड़कों पर उतरी, ‘खून का बदला खून से लेंगे’ जैसे नारे लगाए गए। महिलाओं के साथ बलात्कार किया, सिख पुरुषों के गले में जलते टायर लपेटे, नालों में फेंके जले हुए शवों को जानवरों ने खाया।” मालवीय ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का एक वीडियो भी शेयर किया।

पढ़ें :- राहुल गांधी को पासपोर्ट के लिए तीन साल की मिली एनओसी

वहीं एक और ट्वीट में अमित मालवीय ने कहा कि- अहमदाबाद (1969), जलगांव (1970), मुरादाबाद (1980), नेल्ली (1983), भिवंडी (1984), दिल्ली (1984), अहमदाबाद (1985), भागलपुर (1989), हैदराबाद (1990), कानपुर (1992) और मुंबई (1993)। ये एक छोटी सी लिस्ट है, जिसमें नेहरू-गांधी परिवार की निगरानी में 100 से ज्यादा लोग मारे गए थे।

वहीं पंजाब में अकाली दल अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भी राहुल गांधी के लिंचिंग वाले बयान पर कहा कि लिंचिंग के बारे में बात करने के लिए राहुल गांधी की हिम्मत को देखकर हैरान हूं। वो एक ऐसे परिवार से ताल्लुक रखते हैं जिसने ना केवल श्री हरमंदिर साहिब में टैंक लुटाए, बल्कि 1984 में हजारों निर्दोष सिखों की हत्या भी करवा डाली। वो अभी भी टायलर और माकन की तरह उन लिंचिंग के दोषियों को पुरस्कृत कर रहे हैं।

गौरतलब है कि कांग्रेस शासित झारखंड सरकार मॉब लिंचिंग को रोकने के लिए एक विधेयक लाने की तैयारी कर रही है। ‘लिंचिंग रोकथाम’ विधेयक का मसौदा भी तैयार कर लिया गया है। वहीं विशेष रूप से पश्चिम बंगाल और राजस्थान की विधानसभा पहले ही इसी तरह का विधेयक पारित कर चुकी हैं।

पढ़ें :- Beaking News : अब क्या करेंगी कांग्रेस....राहुल गांधी को लगा बहुत बड़ा झटका....क्या कदम उठाएगी कांग्रेस !

और पढ़ें:

‘दोस्त-दोस्त ना रहा’ कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार उमर खालिद से दूरी बनाने पर हुए ट्रोल

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com