1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3.  कृषि बिल की वापसी भाजपा के अहंकार की है हार : अखिलेश यादव

 कृषि बिल की वापसी भाजपा के अहंकार की है हार : अखिलेश यादव

किसान कभी भाजपा को माफ नहीं करेंगे। अखिलेश यादव ने यह भी दावा किया कि चुनाव में भाजपा की हार निश्चित है। 

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

लखनऊ, 19 नवम्बर। हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा लिए गए कृषि बिल (Farms Law) वापसी के फैसले पर सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भी भाजपा पर अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस कर तंज कसा है। किसानों के संघर्ष को बधाई देते हुए  (SP)समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यह भाजपा के अहंकार की हार है और किसानों के संघर्ष की जीत है, जिसके कारण किसानों से संबंधित तीनों काले कानून वापस हो गये। किसान कभी भाजपा को माफ नहीं करेंगे। अखिलेश यादव ने यह भी दावा किया कि चुनाव में भाजपा की हार निश्चित है।

 

पूरे मोदी मंत्रिमंडल को देना चाहिए इस्तिफा

प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को सिर्फ माफी मांगने से काम नहीं चलेगा बल्कि पूरे मंत्रिमंडल को इस्तिफा देना चाहिए। इसके बाद इन भाजपा नेताओं को कभी भी राजनीति न करने की शपथ लेगी होगी। आखिर इस काले कानून की लड़ाई में जिन किसानों की मौत हो गयी है, उन्हें वापस सरकार जिंदा कर सकेगी। अखिलेश यादव ने कहा कि जिन किसानों की मौत हुई है, उसे मुआवजा दिया जाना चाहिए।

 

चुनाव में हार के डर से कृषि बिल को किया वापस 

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार हमेशा से किसानों की विरोधी रही है। इसका हर कार्य बड़े उद्योग घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए होता रहा है। यह तो यूपी के चुनाव में हार के डर ने कृषि बिल को वापस किया गया है। उन्होंने कहा कि यह बिल चुनावों बाद फिर भाजपा कुछ इधर-उधर करके ला सकती है। भाजपा के चालों को जनता समझ गयी है।

इस बार जनता इनको खुद बाहर का रास्ता दिखा देगी। उन्होंने कहा कि किसानों के हित में भाजपा सोचती तो लखीमपुर में किसानों की हुई मौत के आरोपी को मंत्रिमंडल में अभी तक बनाये नहीं रखती। यह तो चुनावों में दिख रही हार का डर है कि इनका अहंकार कुछ दिनों के लिए हट गया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X