1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. दिल्ली-NCR में बढ़ता प्रदूषण: दिल्ली में सोमवार से स्कूल और सरकारी दफ्तर बंद, हालात बिगड़े तो लॉकडाउन भी ऑपशन

दिल्ली-NCR में बढ़ता प्रदूषण: दिल्ली में सोमवार से स्कूल और सरकारी दफ्तर बंद, हालात बिगड़े तो लॉकडाउन भी ऑपशन

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि निजी संस्थाओं के लिए भी एडवाइजरी जारी की जाएगी कि वहां भी अधिक से अधिक लोगों को वर्क फ्रॉम होम दिया जाए।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

13 नवंबर, नई दिल्ली। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए अगले एक हफ्ते के लिए स्कूल बंद रहेंगे। ये घोषणा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की है। साथ ही दिल्ली के सरकारी दफ्तर में काम करने वाले कर्मचारी भी एक सप्ताह तक घर से ही काम करेंगे। राजधानी में 14-17 नवबंर तक निर्माण कार्य भी बंद रखे जाएंगे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि निजी संस्थाओं के लिए भी एडवाइजरी जारी की जाएगी कि वहां भी अधिक से अधिक लोगों को वर्क फ्रॉम होम दिया जाए। उन्होंने कहा प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए स्कूल बंद किए गए हैं, जिससे बच्चों की सेहत पर बुरा असर ना पड़े।

शनिवार को वायु प्रदूषण के मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री ने एक उच्चस्तरीय बैठक की है। इस बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, पर्यावरण मंत्री गोपाल राय, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और दिल्ली के मुख्य सचिव शामिल थे।

गौरतलब है कि दिल्ली में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने भी राज्य सरकार के प्रति नाराजगी जाहिर की थी। कोर्ट ने प्रदूषण को कम करने के लिए लॉकडाउन की तरह कड़े कदम उठाने की सलाह दी है।

बतादें कि दिल्ली-NCR की बिगड़ी हवा में सुधार के कोई आसार नहीं नज़र आ रहे हैं। शनिवार को दिल्ली की हवा और जहरीली हो गई। वायु प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी में पहुंचने के बाद केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बच्चे, बुजुर्ग और गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी है।

सीएम केजरीवाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम दिल्ली में लॉकडाउन के बारे में विचार कर रहे हैं। हम एक प्रस्ताव बना रहे हैं कि प्रदूषण से निपटने के लिए क्या करना है। सभी को विश्वास में लेकर हम सुप्रीम कोर्ट को इसकी जानकारी देंगे। हम सभी ने बड़ी मुसीबतों का सामना किया है, ये सबकी सेहत का सवाल है, मुझे उम्मीद है जो कठोर कदम हम उठा रहे हैं उसे दिल्ली के लोग समझेंगे और इस बात को मानेंगे कि ये जरूरी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X