1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. बिहार के मुजफ्फरपुर में नूडल्स फैक्टरी ब्लास्ट में सात की मौत, सात गंभीर रूप से घायल

बिहार के मुजफ्फरपुर में नूडल्स फैक्टरी ब्लास्ट में सात की मौत, सात गंभीर रूप से घायल

नूडल्स फैक्टरी ब्लास्ट में घायलों का एसकेएमसीएच में चल रहा इलाज, केवल दो मृतकों की हुई पहचान।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

पटना/मुजफ्फरपुर, 26 दिसंबर। बिहार में मुजफ्फरपुर शहर के औद्योगिक क्षेत्र बेला में रविवार सुबह 10 से 11 के बीच में मोदी नूडल्स फैक्टरी के बॉयलर विस्फोट में सात लोगों की मौत हो गई, जबकि सात अन्य के गंभीर रूप से घायल हो गए। इसकी पुष्टि जिलाधिकारी प्रणव कुमार ने की है।

पढ़ें :- AIIMS का सर्वर क्रैश, सभी कंप्यूटरों को किया जाएगा फॉर्मेट, विभागों को बैकअप रखने का आदेश

मुजफ्फरपुर के डीएम प्रणव कुमार ने बताया कि मोदी नूडल्स बनाने वाली एक फैक्टरी में बॉयलर फटने से सात लोगों की मौत हुई है, जबकि छह से सात अन्य घायल हो गए। ज्यादातर लोग विस्फोट और भाप के कारण मारे गए और कुछ इमारत के मलबे के नीचे दब गए। हादसे में मारे गए लोगों की पहचान नहीं हो सकी है। क्योंकि, शव बुरी तरह झुलस चुके हैं। घटना के सही कारण का फिलहाल पता नहीं चल सका है।

 

धमाके से उड़ गई मशीनें

डीएम ने बताया कि धमाका इतना जोरदार था कि इमारत की मशीनें और एस्बेस्टस शीट की छत उड़ गई और आसपास की फैक्टरियां भी क्षतिग्रस्त हो गईं। धमाके की जोरदार आवाज सुनकर स्थानीय लोग फौरन मौके पर जमा हो गए।

उन्होंने बताया कि एसडीआरएफ व अन्य स्थानीय टीमें पुलिस टीम के साथ रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी हुई हैं। विस्फोट की सूचना के बाद दमकल की पांच टीम और आपातकालीन सेवाओं को भी मौके पर भेजा गया। कई मजदूरों के फैक्टरी के अंदर फंसे होने की आशंका जताई जा रही है।

पढ़ें :- NIA Raid: आतंकी कनेक्शन के खिलाफ एनआईए सख्त, यूपी, पंजाब समेत कई राज्यों में छापेमारी,लॉरेंस बिश्नोई के ठिकानों पर भी छापेमारी

मौके पर पहुंचे मुजफ्फरपुर के एसएसपी जयंत कांत ने मीडिया को बताया कि टीम ने अब तक मलबे से सात शव बरामद किए हैं, जबकि अन्य सात घायलों को इलाज के लिए श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (एसकेएमसीएच) ले जाया गया है। मृतकों के शरीर इतनी बुरी तरह से झुलस गए थे कि अभी तक केवल दो व्यक्तियों की पहचान हो सकी है। एफएसएल टीम और अन्य स्थानीय स्रोतों की मदद से हम अन्य मृतकों के ठिकाने का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। कारखाने में अधिकतम लोग स्थानीय लोग हैं, जो कारखाने में दैनिक वेतन भोगी का काम करते हैं। हमने अधिकारियों से सभी मृतकों और घायलों की सूची तैयार करने को कहा है. मौके पर दमकल की एक टीम भी तैनात है।

उन्होंने बताया कि बॉयलर विस्फोट का असर पास की दो अन्य फैक्टरियों तक भी पहुंच गया है और उन सभी की जांच की जा रही है। पास की फैक्टरियों में घायलों को भी अस्पताल ले जाया गया। एसएसपी ने बताया कि प्रारंभिक जांच के अनुसार नियंत्रण कक्ष और बॉयलर नियंत्रकों द्वारा की गई अनियमितताओं के कारण भट्टी में विस्फोट हुआ, जिसके बाद बॉयलर में विस्फोट हो गया। अनुमान है कि इसमें अनियंत्रित ईंधन डाला गया था, जिससे दबाव बढ़ गया। नियंत्रण कक्ष ने दबाव की जांच नहीं की, जिससे भट्टी में विस्फोट हुआ, जिसके बाद बॉयलर इकाई में विस्फोट हो गया। विस्फोट के लिए जिम्मेदार लोगों और फैक्टरी मालिकों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

पढ़ें :- UP News:रायबरेली में भीषण सड़क हादसा, 2 ट्रकों में भिड़ंत से ड्राइवर समेत 3 लोगों की मौत

एसएसपी ने बताया कि स्नैक्स और नूडल्स बनाने वाली फैक्टरी विकास मोदी और श्वेता मोदी की है। यह 2006 से मुजफ्फरपुर में संचालित किया जा रहा था। यह बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और ओडिशा में स्नैक्स की आपूर्ति करता है। मुशहरी सीओ सुधांशु शेखर ने बताया कि सात घायलों की पहचान नरकटियागंज निवासी विशाल व उसके साले ओम प्रकाश (30), मधुबनी के हरलाखी निवासी विवेक कुमार सदा, शिवहर नगर थाना क्षेत्र के सत्यम कुमार (20) के रूप में हुई है। इसके अलावा मधुबनी के नवतुर घुरवंती के महादेव और मधुबनी के कुंदन के रूप में हुई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...