1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. हेमंत सरकार के दो साल पूरे होने पर आजसू ने मनाया विश्वासघात दिवस

हेमंत सरकार के दो साल पूरे होने पर आजसू ने मनाया विश्वासघात दिवस

उन्होंने कहा कि वे दो साल में भी उन विषयों को हल नहीं कर सके। न तो सरकार खतियान के आधार पर स्थानीयता को परिभाषित कर पाई और न ही युवाओं को घोषणा के अनुसार रोजगार ही मिला।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

झारखंड : हेमंत सरकार के दो साल होने पर आज आजसू पार्टी ने सरकार को घेरा है। आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा कि पिछले दो वर्षों के कार्यकाल में हेमंत सरकार ने एक भी वादा पूरा नहीं किया। चुनाव से पूर्व हेमंत सोरेन ने युवाओं, गरीबों, किसानों सहित अन्य लोगों से कई वादा किया था लेकिन सत्ता में आने के बाद एक भी वादा पूरा नहीं कर सके। सुदेश महतो मंगलवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

पढ़ें :- झारखंड का राजनीतिक महाभारत : हेमन्त की हिम्मत , भाजपा का हमला , ED की दबिश [ इंडिया वाँयस विश्लेषण ]

उन्होंने कहा कि वे दो साल में भी उन विषयों को हल नहीं कर सके। न तो सरकार खतियान के आधार पर स्थानीयता को परिभाषित कर पाई और न ही युवाओं को घोषणा के अनुसार रोजगार ही मिला। राज्य की जनता पिछले दो वर्षों से ठगी गई। उसके साथ विश्वासघात हुआ। इसे लेकर आजसू राज्य की वर्तमान सरकार के दो साल पूरे होने को विश्वासघात दिवस के रूप में मना रही है। इस दौरान सभी जिलों और प्रखंडों में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की घोषणा एवं हकीकत को पार्टी जनता के सामने ला रही है।

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने वर्ष 2021 को नियुक्ति वर्ष के रूप में मनाने की घोषणा की थी लेकिन इस दौरान जितनी युवाओं को नौकरी मिली, उससे अधिक नौकरियां छीनी गईं। 25 लाख रुपये तक की योजनाओं का ठेका स्थानीय लोगों को देने की घोषणा भी हवा में ही रह गई। पिछड़ों के आरक्षण सीमा बढ़ाने की घोषणा भी पूरी नहीं हो पाई। राज्य सरकार ने 100 यूनिट तक की बिजली का बिल माफ करने की घोषणा की थी लेकिन दो साल में बिजली बिल माफ नहीं हुआ।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...