1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ का असर तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और झारखंड से बढ़ते हुए बिहार पहुंचा

चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ का असर तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और झारखंड से बढ़ते हुए बिहार पहुंचा

चक्रवाती तूफान 'गुलाब' को देखते हुए पटना मौसम विभाग ने राज्‍य के कई जिलों में तेज बारिश और हवाएं चलने की आशंका जाहिर की है। वहीं तेलंगाना सरकार ने 'गुलाब' तूफान को लेकर बचाव और राहत कार्य चलाने के लिए जरुरी दिशा-निर्देश दिए हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 27 सितंबर। चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ का असर पश्चिम बंगाल, ओडिशा और झारखंड से आगे बढ़ते हुए बिहार तक पहुंच गया है। पटना मौसम विज्ञान केंद्र ने राज्‍य के कई जिलों में ‘गुलाब’ तूफान की वजह से तेज बारिश और हवाएं चलने की आशंका जाहिर की है। मौसम विभाग ने सोमवार को पटना, सिवान, छपरा, बक्‍सर, भोजपुर, वैशाली सहित कई जिलों के साथ ही दक्षिण मध्‍य और दक्षि‍ण पूर्व बिहार के जिलों में बारिश के आशंका जाहिर की गई है। ‘गुलाब’ तूफान की वजह से मानसून का असर बिहार में अगले एक हफ्ते के लिए बढ़ सकता है। ‘गुलाब’ तूफान का असर मंगलवार तक जारी रहने का अनुमान है।

पढ़ें :- Bihar : जब भरी क्‍लास में टीचर ने कलेक्‍टर से पूछा- हू आर यू? DM की सादगी के कायल हुए लोग, जानें ऐसा क्या हुआ ?

वहीं मौसम विज्ञान केंद्र पटना के मुताबिक मानसून की ट्रफ-लाइन बीकानेर, कोटा, सागर, पेंड्रा रोड, झारसुगुडा, सागर होते हुए दक्षिण-पूर्व की ओर गुजर रही है। वहीं, चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी की ओर अग्रसर है। एक चक्रवाती परिसंचरण का क्षेत्र उत्तर-पूर्व और पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के सीमावर्ती क्षेत्रों में अगले 24 घंटों में बनने की संभावना है। वहीं ‘गुलाब’ का 29 सितंबर तक पश्चिम बंगाल के तटवर्तीय क्षेत्रों में पहुंचने का पूर्वानुमान है। इन सभी मौसमी प्रभावों के कारण प्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिण मध्य, दक्षिण पूर्व बिहार के कुछ जगहों पर हल्की सी मध्यम बारिश की संभावना है।

उधर सोमवार को तेलंगाना सरकार के मुख्य सचिव सोमेश कुमार ने ‘गुलाब’ तूफान को लेकर वर्चुअली राज्य के आठ जिलों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने बचाव और राहत कार्य चलाने के लिए जरुरी दिशा-निर्देश दिए हैं। मौसम विभाग ने चक्रवात के प्रभाव के चलते 27, 28 और 29 सितंबर को भारी बारिश के लिए रेड अलर्ट घोषित किया है। स्थानीय प्रशासन ने हैदराबाद के पुराने शहर के निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने की सलाह भी दी है। राजधानी हैदराबाद में ऑरेंज अलर्ट के बाद मूसलाधार बारिश हो रही है। दक्षिण तेलंगाना जिलों में रेड अलर्ट के बाद जिला प्रशासन ने तालाब उनके बांध टूटने के खतरे को देखते हुए विशेष निगरानी रखने के लिए सिंचाई विभाग को निर्देश जारी किए हैं। राज्य में वरंगल, हैदराबाद, आदिलाबाद और निजामाबाद जिलों में NDRF दलों की सहायता लेने का सुझाव दिया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...