1. हिन्दी समाचार
  2. ख़बरें जरा हटके
  3. भारत के इस राजा ने अफगानिस्तान में बनाई थी पहली निर्वासित सरकार

भारत के इस राजा ने अफगानिस्तान में बनाई थी पहली निर्वासित सरकार

आज के इतिहास में जानें भारत के आर्यन पेशवा के नाम से मशहूर राजा के बारे में। इन्होंने अफगानिस्तान में बनाई थी अपनी पहली निर्वासित सरकार।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

‘आर्यन पेशवा’ के नाम से मशहूर भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, क्रांतिकारी, समाजसेवी, दानवीर राजा महेंद्र प्रताप सिंह का जन्म 01 दिसंबर 1886 को हुआ। वे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के मुरसान रियासत के राजा थे। उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में उल्लेखनीय योगदान दिया।

पढ़ें :- हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के पहले सुपरस्टार थे कुंदनलाल सहगल

मुरासन के इस राजा ने करीब 36 साल देश से बाहर रहकर स्वतंत्रता के लिए संघर्ष किया। पहले विश्वयुद्ध का लाभ उठाकर भारतीय स्वतंत्रता को सुनिश्चित करने का प्रण लेकर वे विदेश गए। इस दौरान उन्होंने 1915 में अफगानिस्तान (काबुल) में भारत की पहली निर्वासित सरकार बनायी। इस सरकार में वे राष्ट्रपति थे। इसके पूर्व 1906 में उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में हिस्सा लिया और स्वाधीनता आंदोलन की ओर अग्रसर हुए।

आर्यन पेशवा ने जापान में किया था भारतीय कार्यकारी बोर्ड का गठन 

उन्होंने दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान 1940 में जापान में भारतीय कार्यकारी बोर्ड का गठन किया। देश को आजादी मिलने से एक साल पूर्व ही 1946 में वे भारत लौटे। उनके भारत लौटने पर सरदार वल्लभ भाई पटेल और उनकी पुत्री मणि बेन ने कोलकाता में राजा महेंद्र प्रताप सिंह का स्वागत किया। उन्होंने 1909 में वृंदावन में प्रेम महाविद्यालय की स्थापना की, जो तकनीकी शिक्षा के लिए भारत का पहला केंद्र माना जाता है। इसके लिए ट्रस्ट का निर्माण हुआ, जिसमें उन्होने अपने पांच गांव, वृंदावन का राजमहल और चल संपत्ति का दान दिया। फिर 1911 में वृंदावन में ही 80 एकड़ के अपने विशाल उद्यान को उन्होंने आर्य प्रतिनिधि सभा को दान दिया। उसमें आर्य समाज गुरुकुल और राष्ट्रीय विश्वविद्यालय शामिल है।

26 अप्रैल 1979 में उनका देहांत हो गया। उनकी सेवाओं को याद करते हुए भारत सरकार ने उनकी स्मृति में डाक टिकट जारी किया है। मार्च 2021 में उत्तर प्रदेश सरकार ने राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर अलीगढ़ में विश्वविद्यालय बनाने की घोषणा की, जिसकी आधारशिला सितंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रखी।

अन्य अहम घटनाएं:

पढ़ें :- दुनिया का सबसे बड़ा सीरियल किलर, जिसे आज भी लोग डॉक्टर डेथ के नाम से पहचानते हैं

1885: सुप्रसिद्ध गांधीवादी और स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षाविद, पत्रकार एवं लेखक काका कालेलकर का जन्म।

1903: भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारियों में शामिल अनंता सिंह का जन्म।

1924: परमवीर चक्र से सम्मानित भारतीय जांबाज मेजर शैतान सिंह का जन्म।

1931: प्रसिद्ध भारतीय चिकित्सक गुरुकुमार बालचंद्र पारुलकर का जन्म।

1954: प्रसिद्ध समाजसेविका मेधा पाटकर का जन्म।

पढ़ें :- शास्त्रीय गायन में इस दिग्गज ने संगीत की पूरी धारा को किया था प्रभावित

1954: हिंदी फिल्मों के मशहूर चरित्र अभिनेता राकेश बेदी का जन्म।

1991: एड्स जागरुकता अभियान की शुरुआत।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...