1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड – प्रदेश में साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने वालो की अब खैर नहीं

उत्तराखंड – प्रदेश में साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने वालो की अब खैर नहीं

पलायन रोकने के लिए उत्तराखंड सरकार का एक्शन प्लान. जिलास्तर पर गठित की जाएगी समिति. उत्तराखंड में साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने वालों पर होगी कार्रवाई, डीजीपी और जिलाधिकारी को निर्देश.

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

देहरादून, 24 सितम्बर। उत्तराखंड में अब सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने पर सख्त कार्रवाई होगी। आपको बता दें कि इसको लेकर शासन ने शुक्रवार को डीजीपी सहित सभी जिलाधिकारियों और एसएसपी को एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। वहीं इसके लिए प्रत्येक जिलों में एक समिति बनाने के भी निर्देश दिए गए हैं। फ़िलहाल शासन की ओर से कहा गया है कि प्रदेश के कुछ विशेष क्षेत्रों में जनसंख्या में अत्यधिक वृद्धि होने से जननांकीय (डेमोग्राफिक) परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं, जिसका कुप्रभाव ‘कतिपय समुदाय के लोगों का उन क्षेत्रों से पलायन’ के रूप में सामने आने लगा है। इतना ही नहीं पलायन की धटनाओं के साथ साथ वहां का सांप्रदायिक माहौल बिगड़ने की भी संभावना लगातार बनी हुई है।

पढ़ें :- उत्तराखंड चुनाव - बुजुर्ग, दिव्यांग और कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों के लिए निर्वाचन आयोग का क्या है नया प्लान ? जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर !

लिहाज़ा शासन द्वारा डीजीपी सहित जिलाधिकारियों एवं एसएसपी को निर्देश दिए गए हैं कि प्रत्येक जिले में जनपद स्तरीय एक समिति गठित की जाए। यह समिति इस समस्या के निदान के लिए अपने सुझाव देगी। इसके अलावा संबंधित क्षेत्रों में शांति समितियों का भी गठन किया जाए तथा समय–समय पर इन समितियों की बैठकें आयोजित की जाएं। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि शासन द्वारा यह भी आदेश दिया गया है कि जिलों में इस प्रकार के क्षेत्रों को चिन्हित करते हुए वहां निवास कर रहे असामाजिक तत्वों के खिलाफ कठोर कर्रवाई की जाए। इसके साथ ही जिलेवार ऐसे व्यक्तियों की सूची तैयार करने को कहा गया है जो अन्य राज्यों से आकर यहां रह रहे हैं और उनका अपराधिक इतिहास है। ऐसे लोगों का व्यवसाय और मूल निवास स्थान का सत्यापन करके उनका रिकॉर्ड तैयार करने के भी निर्देश दिए गए हैं।

जिलाधिकारियों को कहा गया है कि इन क्षेत्र विशेष में भूमि की अवैध ख़रीद–फरोख्त पर विशेष निगरानी रखी जाए। यह देखा जाए कि कोई व्यक्ति किसी के डर या दवाब में अपनी संपत्ति न बेच रहा हो। जिले निवास कर रहे विदेश मूल के उन लोगों के खिलाफ सख्त करवाई करें जिन्होंने धोखे से भारतीय वोटर कार्ड अथवा पहचान पत्र बनवाए हैं। ऐसे लोगों का रिकॉर्ड तैयार कर उनके खिलाफ नियमानुसार करवाई की जाए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...