1. हिन्दी समाचार
  2. विधानसभा चुनाव 2022
  3. भाजपा नेताओं पर भड़के गृहमंत्री अमित शाह दे डाली नसीहत, जानें क्या है पूरा मामला

भाजपा नेताओं पर भड़के गृहमंत्री अमित शाह दे डाली नसीहत, जानें क्या है पूरा मामला

अगले कुछ महीनों में पाँच राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है। लिहाज़ा पार्टी का शीर्ष नेतृत्व इन दिनों किसी तरह की कोई गलती करने से बच रहा है, इसी सिलसिले में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने नेताओं को नसीहत दे डाली है। पढ़ें क्या है पूरा मामला ?

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : भारतीय जनता पार्टी (BJP) के चाणक्य और देश के गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों के साथ मंत्रियों और विधायकों को अनावश्यक बयानबाजी करने से बचने की सलाह दी है।

पढ़ें :- UP में 10 मार्च के बाद महिलाओं को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा : CM योगी

पार्टी की तय नीतियों के अनुसार बयान दें और कार्य करें : अमित शाह

उन्होंने कहा कि पार्टी की तय नीतियों के अनुसार बयान देने के साथ कार्य करें। पूरा विपक्ष पार्टी के नेताओं के अनावश्यक बयान को मुद्दा बना सकता है, ऐसे में किसी भी तरह के चूक का मौका विपक्ष को नहीं देना है। अपने दो दिवसीय प्रवास पर काशी आये गृहमंत्री ने बुधवार को सर्किट हाउस में पार्टी पदाधिकारियों को दिशा निर्देश देने के बाद बाबतपुर एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हो गये।

इसके पहले खराब मौसम और बारिश के बीच मंगलवार की शाम शहर में आये गृहमंत्री ने प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा के साथ संकटमोचन दरबार में हाजिरी लगाई। इसके बाद सर्किट हाउस में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डा. दिनेश शर्मा और अन्य मंत्रियों के साथ बैठक कर चुनाव की तैयारियों की जानकारी ली।

सरकार और संगठन में तालमेल बना कर करें काम 

पढ़ें :- कुंडा विधानसभा सीट से राजा भैया के किले को भेदना भाजपा और सपा के लिए कड़ी चुनौती !

बैठक में अमित शाह ने सरकार और संगठन में तालमेल से काम करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि चुनाव में जीत के लिए केन्द्र और प्रदेश सरकार द्वारा की जाने वाली कल्याणकारी नीतियों का लाभ जनता तक कैसे पहुंचे इस बात पर ध्यान दें और पहुंचाने का प्रयास करें।

सर्किट हाउस के बाद गृहमंत्री ने हरहुआ स्थित गोकुल धाम में काशी व गोरखपुर क्षेत्र के सांसद, मंत्री, प्रदेश सह प्रभारी व प्रदेश चुनाव सह प्रभारी व क्षेत्रीय पदाधिकारियों के साथ दो घंटे से अधिक समय तक बैठक की।

बैठक में उन्होंने बूथ स्तर की मजबूती,कार्यकर्ता से लगातार संपर्क बढ़ाने से लेकर दलित व पिछड़ा समाज में कार्यकर्ताओं को सक्रिय कर पैठ लगातार बढ़ाने को कहा। पार्टी सूत्रों के अनुसार गृहमंत्री ने सोशल मीडिया के जरिये विरोधियों के खिलाफ माहौल लगातार बनाये रखने को कहा है।

काशी और गोरखपुर क्षेत्र के भाजपा पदाधिकारियों को दिया जीत का मंत्र 

बता दें कि बैठक में अमित शाह ने काशी की 71 तथा गोरखपुर क्षेत्र की 62 सीटों पर पुन: जीत के लिए मंथन किया। इस दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने सभी प्रभारियों से एक-एक विधानसभा क्षेत्र में चुनाव तैयारियों का जायजा भी लिया। चुनाव अभियान के अलावा बैठक में विपक्षी दलों को लेकर भी चर्चा हुई।

पढ़ें :- 5 मंत्रियों के भाग्य का फैसला होगा EVM में बंद, UP में सुबह 9 बजे तक 9.45 प्रतिशत मतदान

इस चर्चा में बसपा की वर्तमान स्थिति पर बात करते हुए कहा गया कि, बसपा बहुत ही कमजोर हो चुकी है ऐसे में उसके पारम्परिक मतदाता भी अब उसके साथ रहना नहीं चाहता। ऐसे में इन मतदाताओं को अपने पाले में लाने के लिए लगातार उनके सम्पर्क में रहे। पार्टी का मत समाजवादी पार्टी में न जाय इसके लिए रणनीति पर भी योजना बनी। इसके आलावा बैठक में जातीय समीकरण को लेकर भी चर्चा हुई।

मतदाताओं को जातियों में बंटने से रोकना होगा 

उन्होंने कहा कि हमें मतदाताओं को जातियों में नहीं बंटने देना है। इन मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में बनाये रखना है। बैठक में गृहमंत्री ने कमजोर क्षेत्रों में अधिक मेहनत करने पर बल दिया। इसके पहले बैठक में काशी क्षेत्र अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव, प्रभारी सुब्रत पाठक, प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा, चुनाव सह प्रभारी सरोज पांडेय ने गृहमंत्री का स्वागत किया।

प्रमुख नेता व पदाधिकारी बैठक में हुए शामिल 

बैठक में संगठन मंत्री झारखंड धर्मपाल, प्रदेश उपाध्यक्ष लक्ष्मण आचार्य, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, केंद्रीय मंत्री डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय, कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल मंत्री, सिद्धार्थनाथ सिंह, अनिल राजभर, सांसद विनोद सोनकर, रीता बहुगुणा जोशी और संगम लाल गुप्ता गोरखपुर क्षेत्र से क्षेत्रीय अध्यक्ष डा. धर्मेंद्र सिंह, प्रभारी अनूप गुप्ता, चुनाव सह प्रभारी अरविंद मेनन, विवेक ठाकुर, केंद्रीय राज्यमंत्री पंकज चौधरी, सांसद रमापति राम त्रिपाठी, शिव प्रताप शुक्ल, जगदंबिका पाल, हरीश द्विवेदी, रविंद्र कुशवाहा, कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही, स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चौहान ने भाग लिया।

पढ़ें :- UP, उत्तराखंड और गोवा की कुल 165 सीटों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शुरू, PM ने की खास अपील
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...