1. हिन्दी समाचार
  2. जॉब्स
  3. UPSC ने सिविल सेवा परीक्षा 2020 का परिणाम किया घोषित, 761 उम्मीदवार पास, शुभम कुमार बने टॉपर

UPSC ने सिविल सेवा परीक्षा 2020 का परिणाम किया घोषित, 761 उम्मीदवार पास, शुभम कुमार बने टॉपर

कुल 761 उम्मीदवारों ने UPSC की परीक्षा पास की है, जिसमें इंजीनियरिंग स्नातक शुभम कुमार ने पहला और जागृति अवस्थी ने दूसरा स्थान हासिल किया है, जबकि अंकिता जैन ने प्रतिष्ठित परीक्षा में तीसरा स्थान हासिल किया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 25 सितंबर। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने शुक्रवार को सिविल सेवा परीक्षा 2020 का परिणाम घोषित कर दिया है। कुल 761 उम्मीदवारों ने ये UPSC की परीक्षा पास की है, जिसमें इंजीनियरिंग स्नातक शुभम कुमार और जागृति अवस्थी ने पहला और दूसरा स्थान हासिल किया है, जबकि अंकिता जैन ने प्रतिष्ठित परीक्षा में तीसरा स्थान हासिल किया है।

UPSC की ओर से जनवरी, 2021 में आयोजित सिविल सेवा परीक्षा, 2020 के लिखित भाग और अगस्त-सितम्बर, 2021 में आयोजित व्यक्तित्व परीक्षण के लिए साक्षात्कार के परिणामों के आधार पर भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय विदेश सेवा, भारतीय पुलिस सेवा और केंद्रीय सेवाओं, ग्रुप “क” और ग्रुप “ख” में नियुक्ति के लिये कुल 761 उम्मीदवारों की अनुशंसा की गई है। इनमें 545 पुरुष और 216 महिला शामिल हैं।

शुभम कुमार

UPSC-2020 के टॉपर बने इंजीनियरिंग ग्रेजुएट शुभम कुमार

IIT बॉम्बे से बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (सिविल इंजीनियरिंग) ग्रेजुएट शुभम कुमार ने अपने वैकल्पिक विषय के रूप में ऐन्थ्रपालजी के साथ परीक्षा पास की है।

jagriti-awasthi UPSC TOPER

UPSC-2020 में जागृति अवस्थी ने दूसरा स्थान हासिल किया, जागृति महिला उम्मीदवारों में रहीं टॉपर

UPSC की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक जागृति अवस्थी महिला उम्मीदवारों में टॉपर हैं। उन्होंने वैकल्पिक विषय के रूप में समाजशास्त्र के साथ परीक्षा पास की है। उन्होंने मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एमएएनआईटी), भोपाल से बी.टेक (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग) पूरा किया है।

सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा, 2020 पिछले साल 4 अक्टूबर को आयोजित की गई थी। जारी बयान में कहा गया है कि 10,40,060 उम्मीदवारों ने परीक्षा के लिए आवेदन किया था, जिनमें से 4,82,770 परीक्षा में शामिल हुए थे। जनवरी, 2021 में हुई लिखित (मुख्य) परीक्षा में कुल 10,564 उम्मीदवारों ने हिस्सा लिया है। उनमें से 2,053 उम्मीदवारों ने व्यक्तित्व परीक्षण (साक्षात्कार) के लिए क्वालिफिकेशन हासिल की।

सफल उम्मीदवारों में से 263 सामान्य वर्ग के, 86 आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस), 229 अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी), 122 अनुसूचित जाति (एससी) और 61 अनुसूचित जनजाति वर्ग के हैं।

UPSC ने कहा कि शीर्ष 25 उम्मीदवारों में 13 पुरुष और 12 महिलाएं शामिल हैं। बयान में कहा गया है कि शीर्ष 25 सफल उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता देश के प्रमुख संस्थानों जैसे IIT, NIT, BITS, NSUT, DTU, JIPMIR, मुंबई विश्वविद्यालय और दिल्ली विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग, मानविकी, वाणिज्य और चिकित्सा विज्ञान में ग्रेजुएट हैं।

शीर्ष 25 सफल उम्मीदवारों ने लिखित (मुख्य) परीक्षा में ऐन्थ्रपालजी, सिविल इंजीनियरिंग, वाणिज्य और लेखा, अर्थशास्त्र, भूगोल, गणित, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, चिकित्सा विज्ञान, दर्शन, भौतिकी, राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंध, लोक प्रशासन और समाजशास्त्र जैसे विषयों को अपनी वैकल्पिक पसंद के रूप में चुना है। कुल 150 उम्मीदवारों को आरक्षित सूची में रखा गया है। कई सिविल सेवाओं के 836 पदों को भरने के लिए परीक्षा आयोजित की गई थी।

हिन्दुस्थान समाचार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X