1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Uttar Pradesh: इत्र कारोबारी पीयूष जैन को 14 दिन की न्यायिक हिरासत, जैन के घर से 284 करोड़ की नकदी मिली

Uttar Pradesh: इत्र कारोबारी पीयूष जैन को 14 दिन की न्यायिक हिरासत, जैन के घर से 284 करोड़ की नकदी मिली

पीयूष जैन ने SBI के अधिकारियों को लिखित में दिया है कि कर चोरी की रकम मेरे खाते से निकालकर जमा कर दी जाए।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

कानपुर, 27 दिसंबर। इत्र कारोबारी पीयूष जैन को सोमवार को मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया।

पढ़ें :- जम्मू-कश्मीर के DG जेल की हत्या, पुलिस को नौकर पर संदेह

अबतक 31 करोड़ की कर चोरी सामने आई

बतादें कि पीयूष जैन के कानपुर और कन्नौज स्थित घरों से अब तक 284 करोड़ रुपये की नकदी मिल चुकी है। नोटों की गिनती अभी भी जारी है। अब तक 31 करोड़ रुपए की कर चोरी सामने आई है। पीयूष जैन ने SBI के अधिकारियों से कहा है कि कर चोरी की रकम उनके बैंक खाते से निकालकर जमा कर दी जाए।

पीयूष जैन को कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

GST इंटेलिजेंस महानिदेशालय (DGGI) और आयकर विभाग की टीम ने रविवार रात को इत्र कारोबारी पीयूष जैन को गिरफ्तार किया था। हालांकि उसे शुक्रवार तड़के ही हिरासत में लेकर कानपुर के सर्वोदय नगर स्थित GST कार्यालय में रखा गया था। रातभर कानपुर के काकादेव थाने में उसे रखा, सोमवार को उसका मेडिकल कराया गया और बाद में ज्योत्सना सिंह की कोर्ट में पेश किया गया। पहले ये संभावना थी कि DGGI पीयूष जैन से पूछताछ के लिए रिमांग की अपील करेगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

पढ़ें :- दिल्ली में AAP का साफ सफाई को लेकर हल्ला बोल, 3500 जगहों पर कूड़े से बने रावण के पुतले फूेंकेगी

पीयूष के कन्नौज स्थित घर में अभी भी सर्च ऑपरेशन जारी

GST इंटेलिजेंस टीम की ओर से सोमवार को बताया गया कि इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर और कन्नौज आवास एवं ठिकानों में छापेमारी की गई। इस कार्रवाई में लगभग 284 करोड़ की नकदी, जेवरात आदि बरामद होने के बाद रविवार देर रात उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। पीयूष के कन्नौज स्थित घर में अभी भी सर्च अभियान चल रहा है।

‘कर’ चोरी के पैसे जमा कराने को तैयार पीयूष जैन

कोर्ट में पीयूष जैन की पैरवी करने वाले अधिवक्ता राकेश तिवारी ने बताया कि पीयूष जैन को रिमांड पर नहीं लिया गया और ना ही टीम उन्हें गुजरात लेकर जाएगी। यहीं पर उनको जेल भेजा गया है और अब तक 31 करोड़ रुपये की कर चोरी की बात सामने आई है, जिसको पीयूष जैन जमा करने के लिए तैयार हैं। पीयूष जैन ने SBI के अधिकारियों को लिखित में दे दिया है कि कर चोरी की रकम मेरे खाते से निकालकर जमा कर दी जाए। हालांकि अभी नोटों की गिनती जारी है और कर चोरी 52 करोड़ रुपये तक पहुंच सकती है।

पढ़ें :- सोनिया गांधी 6 अक्तूबर को भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगी, कांग्रेस ने साधा RSS पर निशाना
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...