1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Uttarakhand में कोरोना के मामले बढ़े तो बंदिशे होंगी लागू – मुख्य सचिव

Uttarakhand में कोरोना के मामले बढ़े तो बंदिशे होंगी लागू – मुख्य सचिव

Omicron के बढ़ते खतरे को देखते हुए मुख्य सचिव ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि मामले को बढ़ता देख कोरोना अनुरूप नियमों का सख्ती से कराए पालन।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

Omicron Update : कोरोना के नए वैरिएंट Omicron के बढ़ते खतरे को देखते हुए इन दिनों देश सतर्क है। उत्तराखंड में भी Omicron को लेकर जहां एक तरफ राज्य सरकार अलर्ट मोड पर है वहीं प्रशासन भी पूरी तरह से सतर्कता बरत रही है। इसी सिलसिले में मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधू ने सभी जिलाधिकारियों के साथ Omicron वैरिएंट को लेकर समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रशासन Omicron से बचाव और सुरक्षा के लिए विशेष कदम उठाए।

पढ़ें :- देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 13,313 नए मरीज

उन्होंने सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी निर्देशों के क्रम में जिलाधिकारियों को रोकथाम के उपाय एवं प्रतिबंध का अनुपालन करने को भी कहा है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि, सभी जिलों में कोविड के नए मामलों पर नजर बनाए रखें। साथ ही जनसंख्या और इसके घनत्व के अनुरूप Omicron को फैलने से रोकने के लिए कटेंनमेंट जोन, टेस्टिंग, ट्रैकिंग और कोविड अनुरूप पालन कराने हेतु कार्रवाई किए जाने के भी निर्देश दिए।

मामले बढ़े तो संख्या होगी सीमित

मुख्य सचिव ने निर्देश जारी करते हुए कहा कि, कोविड मामलों में अगर वृद्धि होती है तो राज्य में नाइट कर्फ्यू, अधिक भीड़ एकत्रित होने पर प्रतिबंध, विवाह या सामूहिक कार्यक्रमों में लोगों की क्षमता साथ ही सार्वजनिक परिवहन में संख्या सीमित करने जैसे सख़्त कदम उठाए जाए।

डोर टू डोर किए जाए केस सर्च, जीनोम सीक्वेंसिंग पर भी दिया जाय जोर

पढ़ें :- मुंबई में कोरोना के नए वेरिएंट एक्सई की आधिकारिक पुष्टि नहीं: राजेश टोपे

मुख्य सचिव ने राज्य में कोविड टेस्टिंग को आईसीएमआर और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुरूप कराए जाने के साथ ही, डोर टु डोर केस सर्च और जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए सैंपल शीघ्र से शीघ्र भेजे जाने पर भी जोर दिया है।

विदेशी यात्रियों पर खास निगहबानी

इस दौरान विदेश से आए सभी यात्रियों पर खास निगरानी रखी जाएगी। मुख्य सचिव ने कहा कि ऐसे यात्रियों की सैंपलिंग और मॉनिटरिंग को प्राथमिकता के साथ किया जाए। उन्होंने कोविड पॉजिटिव लोगों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और आईसीएमआर की गाइडलाइन के अनुरूप टेस्टिंग कराए जाने के भी निर्देश दिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...