1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड सियासत : कांग्रेस और भाजपा नेताओं के बीच जुबानी जंग की हुई शुरुआत,

उत्तराखंड सियासत : कांग्रेस और भाजपा नेताओं के बीच जुबानी जंग की हुई शुरुआत,

कांग्रेस प्रवक्ता ने दुष्यंत को बताया दिमागी तौर पर बीमार.

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

उत्तराखंड, 15 नवंबर। प्रदेश में अगले वर्ष विधान सभा का चुनाव होना है ऐसे में चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस पार्टी और भाजपा नेताओं के बीच जुबानी जंग की शुरुआत हो गई है. हाल ही में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद और अभिनेत्री कंगना रानौत के बयान के बाद दोनों पार्टी के नेताओं के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है।

एक तरफ कंगना के बयान का बचाव करते हुए भाजपा के उत्तराखंड प्रभारी दुष्यंत गौतम द्वारा आजादी को दुर्भाग्यपूर्ण बताया, जिस पर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक शर्मा ने दुष्यंत गौतम को दिमागी तौर पर बीमार बताते हुए माफी मांगने की मांग की है। साथ ही उन्होंने सलमान खुर्शीद की किताब और कंगना रनौत के बयानों का खंड़न भी किया।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक शर्मा ने भाजपा और खासकर भाजपा के उत्तराखंड प्रभारी दुष्यंत गौतम पर निशाना साधते हुए कहा कि पंडित नेहरू जैसे विजन वाले व्यक्ति न पहले हुए थे और न अब होंगे। आरएसएस उनके कद से ईर्ष्या करती है। लगातार उनके चरित्र खनन के ऐसे मुद्दे उठाती है, जिनका न कोई सिर और न पैर होता है। भाजपा प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम द्वारा कंगना रनौत का समर्थन करते हुए जिस तरह से स्वतंत्र सेनानियों का अपमान किया है, वह निंदनीय है।

उल्लेखनीय है कि कंगना राणावत ने हाल ही एक कार्यक्रम में बयान दिया था कि भारत को असली आजादी 2014 में मिली जब पीएम नरेन्द्र मोदी सत्ता में आए। 1947 में मिली आजादी एक भीख थी जो अंग्रेजों ने दी थी। कंगना के इस बयान से देशभर में हंगामा मचा हुआ है। कांग्रेस कंगना पर स्वतंत्रता सेनानियों के अपमान का आरोप लगा रही है और राणावत से पद्मश्री वापस लिये जाने की मांग हो रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
India Voice Ads
X