1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. सरकारें जब दिशाहीन होती हैं तो विकास भी हो जाता है दिशाहीन- योगी आदित्यनाथ

सरकारें जब दिशाहीन होती हैं तो विकास भी हो जाता है दिशाहीन- योगी आदित्यनाथ

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 से पहले राशन और बिजली नहीं मिलती थी। पहले बिजली कुछ क्षेत्रों में जिन्हें VIP माना जाता था, वहां तक सीमित थी। आज बिजली, राशन सबको बिना भेदभाव के दिया जा रहा है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

उन्नाव, 30 सितंबर। नया उत्तर प्रदेश बन रहा है। अच्छे जनप्रतिनिधि की पहचान विकास से होती है। उन्नाव की धरती शहीदों और साहित्यकारों से जानी जाती है। सरकारें जब दिशाहीन होती हैं, तो विकास भी दिशाहीन हो जाता है। 2017 से पहले राशन और बिजली नहीं मिलती थी। प्रदेश आज प्रधानमंत्री के मेहनत की बदोलत आगे बढ़ रहा है। देश की पहचान सम्मान के साथ बढ़ी है। ये कहना है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का। गुरुवार को पुरवा विधानसभा क्षेत्र के सगौली में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले बिजली कुछ क्षेत्रों में जिन्हें VIP माना जाता था, वहां तक सीमित थी। आज बिजली, राशन सबको बिना भेदभाव के दिया जा रहा है। वहीं इसके मौके पर सीएम योगी ने जनपद उन्नाव में 81.89 करोड़ लागत की 46 विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

पढ़ें :- Uttar Pradesh : सीएम योगी ने पेश किया अपने 100 दिन के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड, देखें क्या रहीं उपलब्धियां

मुख्यमंत्री सपनों के राजकुमार हैं- ह्रदय नारायण दीक्षित

वहीं कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित ने कहा कि मुख्यमंत्री सपनों के राजकुमार हैं। वो सबके सपने पूरे करते हैं। 2017 के पहले सपनों के सौदागर दिखाई नहीं देते थे। आज सबके सपने पूरे हो रहे हैं।

भीड़ देखकर गदगद हुए योगी

सगौली में आयोजित मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में खचाखच पंडाल भरा देखकर नेताओं का सीना चौड़ा हो गया। वहीं, विरोधी दलों का खिसकता जनाधार भी नज़र आया। कार्यक्रम स्थल से लेकर बाहर तक भीड़ ही भीड़ देखकर योगी भी गदगद हो गए।

पढ़ें :- Uttar Pradesh : जनसंख्या नियंत्रण बिल लाने की सिफारिश करेगा अल्पसंख्यक आयोग, अशफाक सैफी ने कहा- देश शरीयत से नहीं कानून से चलेगा

मेरा असली शिष्य अनिल सिंह- साक्षी महाराज

साक्षी महाराज ने कहा कि मायाजाल को छोड़ कर जो रामाजल में आया है। उसका बारम्बार स्वागत है। मंच पर ही अनिल सिंह के तिलक लगाकर विजयी होने का आशीर्वाद दिया और कहा कि जो लोग हमारा साथ छोड़कर भाग गये हैं। वो मेरे शिष्य कभी नहीं हो सकते। मेरा असली शिष्य अनिल सिंह है।

हिन्दुस्थान समाचार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...