1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कौन हैं दुर्गा शंकर मिश्र जिन्हें नियुक्त किया गया UP का मुख्य सचिव ? पढ़ें पूरी खबर

कौन हैं दुर्गा शंकर मिश्र जिन्हें नियुक्त किया गया UP का मुख्य सचिव ? पढ़ें पूरी खबर

परिवार में सभी लोग प्रशासनिक पदों पर हैं मौजूद. पढ़ें अन्य रोचक बातें।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

Chief Secretary of UP : उत्तर प्रदेश के नए मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र (Durga Shankar Mishra)  ने गुरुवार को कार्यभार ग्रहण किया। दुर्गा शंकर मिश्रा को मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी की जगह नया पदभार सौंपा गया है। बता दें कि दुर्गा शंकर मिश्रा को अगले एक साल के लिए उत्तर प्रदेश का मुख्य सचिव नियुक्त किया गया है।

पढ़ें :- सीएम योगी ने आजम खान पर कास तंज, कही ये बात, पढ़ें

1984 बैच के आईएसएस अधिकारी हैं दुर्गा शंकर मिश्रा

दुर्गा प्रसाद मिश्र 1984 बैच के आईएसएस अधिकारी हैं। इसके पूर्व वह केन्द्र सरकार में आवास और शहरी मंत्रालय में सचिव तथा दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के अध्यक्ष पद पर कार्यरत रहे। वह मायावती सरकार में विभिन्न पदों पर यूपी में कार्यरत रह चुके हैं।

केन्द्र सरकार ने यूपी विधानसभा चुनाव के ठीक पहले एक वर्ष का सेवा विस्तार करते हुए दुर्गा शंकर मिश्र को राजेन्द्र कुमार तिवारी की जगह नया चीफ सेक्रेटरी बनाया है। उन्हें इसी महीने 31 दिसम्बर को सेवानिवृत होना था। लेकिन उनकी कार्यकुशलता और साफ छवि होने के कारण सेवा विस्तार दिया गया है। इसके आलावा वह आगरा और सोनभद्र जिले के जिलाधिकारी भी रह चुके हैं।

कौन हैं आईएएस दुर्गा शंकर मिश्रा, जानें उनके बारे में सबकुछ: know who is IAS durga shankar mishra, kaun hain ias durga shankar mishra - Navbharat Times

पढ़ें :- UP News:रेलवे स्टेशन पर बुजुर्ग के नमाज पढ़ने का वीडियो हुआ वायरल,जांच में जुटी RPF

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले के रहने वाले हैं दुर्गा शंकर मिश्रा 

04 दिसम्बर, 1961 को जन्मे दुर्गा शंकर मिश्र उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद के पहाड़ीपुर गांव के निवासी हैं। बचपन से ही पढ़ाई में अव्वल रहने वाले दुर्गा शंकर मिश्रा हमेशा आगे बढ़ना ही सीखें, उन्होंने कभी पीछे मुड़कर देखने की कोशिश नहीं की। कक्षा 5 तक गांव के ही प्राथमिक विद्यालय पहाड़ीपुर में शिक्षा लेने के बाद वे कक्षा 6 की पढ़ाई के लिए गांव के समीप गांधी विद्यालय इंटर कॉलेज मारूफपुर में चले गए।

पढ़ें :- UP News:स्कूल की तीसरी मंजिल से 11वीं की छात्रा ने लगाई छलांग, गोरखपुर किया गया रेफर हालत गंभीर

वहां पर वे पढ़ाई करने के साथ, भारत सरकार के आवासीय छात्रवृत्ति कार्यक्रम में आवेदन किया था और उसमें उनका सलेक्शन हो गया। फिर कक्षा 7 से हायर सेकेंडरी तक की पढ़ाई करने के लिए वह विकास विद्यालय रांची में चले गए।

कानपुर IIT में लिया दाखिला

पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्होंने बीएचयू के लिए आईआईटी में आवेदन किया था। जहां उनका सलेक्शन हो गया और वह बीएचयू में पढ़ाई शुरू कर दिए। वहां 1 वर्ष पढ़ाई पूरा हुआ था कि उन्हें कुछ लोगों के द्वारा यह जानकारी हुई की बीएचयू से बेहतर कानपुर आईआईटी है और वे कानपुर आईआईटी में एडमिशन के लिए आवेदन कर बैठे और वहां भी उनका सेलेक्शन हो गया। कानपुर से बीटेक की पढ़ाई पूरी करते ही उसी वर्ष उनका 3 जगहों पर सलेक्शन हो गया।

Up new Chief Secretary | Durga Shankar Mishra |take charge today | latest news IAS Durga shankar mishra | mukhya sachiv up | uttar pradesh। | Durga Shankar Mishra: नव नियुक्त मुख्य

यूपी कैडर के IAS बनें दुर्गा शंकर मिश्रा 

जिसमें उन्हें ‘इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज’ तथा यूपी कैडर का आईएएस का पद मिला और उन्होंने यूपी कैडर के आईएएस को चुना। श्री मिश्र की 1984 में पहली पोस्टिंग चन्दौली जिले के चकिया तहसील के एसडीएम पद पर हुई। इसके बाद अपने कुशल प्रशासनिक अनुभवों से कई महत्वपूर्ण प्रशासनिक पदों पर रहें। वर्ष 2010 में मायावती सरकार में तत्कालीन उत्तर प्रदेश सरकार में प्रमुख सचिव के पद पर भी रहे हैं। श्री मिश्रा कई महत्वपूर्ण योजनाओं का संचालन करने में अहम भूमिका निभाएं तथा मेट्रो के संचालन में इनकी कार्य कुशलता के चलते आज कई शहरों में मेट्रो का संचालन हो रहा है।

पढ़ें :- UP News:यूपी के हाथरस में भीषण सड़क हादसे में 3 की मौत, कार के उड़े परखच्चे

परिवार में सभी लोग प्रशासनिक पदों पर हैं मौजूद 

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद स्थित पहाड़ीपुर गांव वह गांव है जो अब तक लगभग एक दर्जन से भी ज्यादा प्रशासनिक अधिकारी दे चुका है जो आज देश में विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। श्री दुर्गा शंकर मिश्र के पिता स्व. पंडित मदन मिश्र बलिया में मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय में बड़े बाबू थे और उनकी माता स्व. कुमारी देवी गृहणी थी।

दुर्गा शंकर मिश्रा के भाई सत्यकाम मिश्र आयकर विभाग दिल्ली में चीफ कमिश्नर हैं। तथा उनसे छोटे भाई विनय कुमार मिश्र को ऑपरेटिव सोसाइटी कानपुर में रजिस्ट्रार हैं। इनके चचेरे भाई अवधेश मिश्र चंडीगढ़ में आयकर कमिश्नर हैं। चचेरे भाई दिनेश मिश्र आगरा में जीएसटी में कमिश्नर, चचेरे भाई अविनाश मिश्र बाल मजदूरों के लिए शिक्षा के लिए भदोही में सामाजिक कार्य करते हैं। भतीजा सुधांशु मिश्र सेना में कर्नल है, भतीजा डा. अक्षत मिश्र मुम्बई के जे.जे अस्पताल में शैल्य चिकित्सक हैं। वे वर्ष में एक बार अपने गांव एक हफ्ते के लिए जरूर आते हैं।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...