1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. योगी सरकार- किसानों को राहत पहुंचाने के लिए इस साल जारी किए गए 415 करोड़ रुपए

योगी सरकार- किसानों को राहत पहुंचाने के लिए इस साल जारी किए गए 415 करोड़ रुपए

साल 2018-19 में योगी सरकार ने 3 लाख 84 हजार 113 किसानों को 2 अरब 12 करोड़ 76 लाख रुपये, इसके बाद 2019-2020 में 1 लाख 79 हजार 536 किसानों को 6 हजार 431 लाख रुपये राहत के रूप में भेजे थे।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

लखनऊ, 21 नवंबर। उत्तर प्रदेश में बाढ़ और बारिश से प्रभावित किसानों को पिछले 3 साल में योगी सरकार ने बड़ी राहत दी है। योगी सरकार ने साल 2020-21 में नुकसान झेल रहे 08 लाख 57 हजार 937 किसानों के लिए 415.45 करोड़ रुपये जारी किए हैं, जिनमें से अभी तक 301.54 करोड़ 54 रुपये किसानों के खाते में भेजे जा चुके हैं। इसके पहले वर्ष 2018-19 में योगी सरकार ने तीन लाख 84 हजार 113 किसानों को 2 अरब 12 करोड़ 76 लाख रुपये, इसके बाद 2019-2020 में एक लाख 79 हजार 536 किसानों को छह हजार 431 लाख रुपये राहत के रूप में भेजे थे।

पढ़ें :- Uttar Pradesh : गरीब की झोपड़ी और ठेलों पर नहीं चलेगा बुल्डोजर, मुख्यमंत्री का अधिकारियों को सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश में इस साल बाढ़ और भारी बारिश से किसानों की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा। सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित किसानों की परेशानी को समझने और नुकसान की भरपाई करने के लिए बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण भी किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने प्रभावित सभी जिलों के अधिकारियों से पीड़ितों किसानों का सर्वे करके उनको तुरंत राहत राशि पहुंचाने के निर्देश दिए थे। इसी का परिणाम रहा कि शासन-प्रशासन ने तत्काल इन किसानों को राहत राशि पहुंचाई। सितम्बर और अक्टूबर की शुरुआत में हुई मूसलाधार बारिश और बाढ़ से करीब 44 जिलों में किसानों की फसलों को काफी ज्यादा नुकसान पहुंचा था।

वहीं योगी सरकार ने नुकसान की भरपाई के लिए किसानों को उचित मुआवजा देने का ऐलान किया था। सरकार ने अभी तक साढ़े 8 लाख से अधिक किसानों को मुआवजा देने का काम किया है। ये मुआवजा राशि जिला कोषागार से सीधे किसानों के बैंक खाते में ट्रांसफर की जा रही है। सरकार राज्य आपदा राहत कोष से किसानों को वित्तीय सहायता दे रही है।

हिन्दुस्थान समाचार

पढ़ें :- Yogi Cabinet : दिनेश शर्मा समेत कई दिग्गजों को नहीं मिली योगी-2 मंत्रिपरिषद में जगह, जानें क्या रहे कारण?
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...