1. हिन्दी समाचार
  2. बिहार
  3. फर्जी रिपोर्टिंग कर लाखों का गबन कर रहे नेहरू युवा केंद्र के अधिकारी, विद्यार्थी परिषद ने लगाया आरोप

फर्जी रिपोर्टिंग कर लाखों का गबन कर रहे नेहरू युवा केंद्र के अधिकारी, विद्यार्थी परिषद ने लगाया आरोप

उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय प्रतियोगिता में मात्र 13 प्रतिभागी भाग लिए, क्योंकि जागरूकता के लिए किसी भी प्रकार की गतिविधि नहीं चलाई गई।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

बेगूसराय : केंद्र सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार एवं युवाओं को रचनात्मक कार्यों से जोड़ने के लिए नेहरू युवा केंद्र प्रत्येक जिले में कार्य करती है, लेकिन बेगूसराय में नेहरू युवा केंद्र पदाधिकारियों के लिए लूट का जरिया बना हुआ है। यह आरोप अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने लगाया है।

पढ़ें :- बिहार के नालंदा में 11 लोगों की मौत, परिजनों का आरोप जहरीली शराब से हुई मौत

सोमवार को विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता 11 बजे जब नेहरू युवा केंद्र कार्यालय पर पहुंचे तो वहां पर कोई भी पदाधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित नहीं थे, केवल सफाई कर्मचारी का एक नाबालिग भांजा बैठा था। इससे आक्रोशित होकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने कार्यालय पर जोरदार धरना-प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सोनू सरकार एवं नगर मंत्री पुरुषोत्तम कुमार ने कहा कि जिस नेहरू युवा केंद्र से कई प्रकार के जागरूकता एवं युवाओं में रचनात्मकता लाने का कार्यक्रम चलना चाहिए, उस नेहरू युवा केंद्र के पदाधिकारी ही अधिकांश समय कार्यालय नहीं आते हैं, घर से ही कार्यालय चलता है।

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार के द्वारा युवाओं के सर्वांगीण विकास के लिए चलाए जा रहे योजनाओं का पैसा गबन कर फर्जी बिल बाउचर से राज्य कार्यालय को रिपोर्टिंग करने का पुख्ता सबूत है। विगत दिनों उलाव में बेगूसराय प्रखंड का खेल कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसकी जानकारी बेगूसराय के स्वयंसेवक को भी नहीं है। वीरपुर में भी खेल के आयोजन की जानकारी वीरपुर के स्वयंसेवक को नहीं है। विद्यार्थी परिषद ऐसे भ्रष्टाचारी पदाधिकारियों के खिलाफ बिगुल फूंक चुकी है तथा आंदोलन लगातार चलता रहेगा।

उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय प्रतियोगिता में मात्र 13 प्रतिभागी भाग लिए, क्योंकि जागरूकता के लिए किसी भी प्रकार की गतिविधि नहीं चलाई गई। आज के समय में जहां युवाओं की भागीदारी के लिए केंद्र सरकार करोड़ों रुपया नेहरू युवा केंद्र के माध्यम से खर्च कर रही है। वहीं, बेगूसराय का नेहरू युवा केंद्र उन युवाओं को केवल आमदनी के स्रोत के रूप में प्रयोग कर रहा है। प्रत्येक प्रखंड में क्लब के माध्यम से खेलकूद सामग्री का वितरण होना चाहिए, लेकिन आज तक सामग्री वितरण नहीं हुआ और पैसे की निकासी की गई है।  राहुल कुमार ने कहा कि यहां के पदाधिकारी स्वयंसेवकों पर फर्जी रिपोर्टिंग का दबाव बनाते हैं और स्वयं भी फर्जी बिल वाउचर के माध्यम से पैसे की उगाही करते हैं। उक्त फर्जीवाड़े की जांच कर दोषी पदाधिकारियों पर कठोर कार्रवाई हो, ताकि समाज में नेहरू युवा केंद्र जन जागरूकता का माध्यम बन सके।

पढ़ें :- बिहार में लोन न देने वाले बैंकों की तालाबंदी करेगी जन अधिकार पार्टी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...