Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. राजनीति
  3. इस्तीफे के बाद जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे किरोड़ी लाल मीणा का बड़ा बयान

इस्तीफे के बाद जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे किरोड़ी लाल मीणा का बड़ा बयान

बीजेपी नेता किरोड़ी लाल के इस्तीफे से राजस्थान की राजनीति में हलचल मच गई है। बीते दिन किरोड़ी लाल ने मंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया। आज उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। ऐसे में किरोड़ी लाल ने अपने इस्तीफे पर भी चुप्पी तोड़ी है।

By up bureau 

Updated Date

दिल्ली। बीजेपी नेता किरोड़ी लाल के इस्तीफे से राजस्थान की राजनीति में हलचल मच गई है। बीते दिन किरोड़ी लाल ने मंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया। आज उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। ऐसे में किरोड़ी लाल ने अपने इस्तीफे पर भी चुप्पी तोड़ी है।

पढ़ें :- AAP सांसद संजय सिंह का इल्जाम, 'जेल में ही CM केजरीवाल को मारने की साजिश’

जेपी नड्डा से मुलाकात करके बाहर निकले किरोड़ी लाल ने कहा कि नड्डी जी से क्या बात हुई? इसका जवाब वो नहीं दे सकते हैं। हालांकि वो 10 दिन बाद फिर से नड्डा से मिलने जाएंगे। किरोड़ी लाल का कहना है कि आज नड्डा जी ने बुलाया था। कुछ ऐसी बातें हुई हैं जिन्हें मैं बताना नहीं चाहता। अब 10 दिन बाद नड्डी जी से फिर मुलाकात होनी है।

इस्तीफे की वजह बताई

इस्तीफे की वजह बताते हुए किरोड़ी लाल ने कहा कि मैंने जनता को वचन दिया था कि अगर मैं पूर्वी राजस्थान की सीट हार गया तो इस्तीफा दे दूंगा। मैंने अपना वादा पूरा किया। इस्तीफे की कॉपी राष्ट्रीय अध्यक्ष के पास है। उन्होंने मुझे फिर 10 दिन बाद बुलाया है। मेरा कोई गलत इरादा नहीं है। मैंने हमेशा पार्टी की लाइन पर काम किया है। संगठन या मुख्यमंत्री जी से कोई शिकायत नहीं है। सबका बहुत प्यार मिला है। बस जनता के बीच में बोला था इसलिए इस्तीफा देना पड़ा।

किरोड़ी लाल ने संभाली थी पूर्वी राजस्थान की जिम्मेदारी

पढ़ें :- UP : बेदीराम से ओम प्रकाश राजभर ने पल्ला झाड़ा, ‘बेदीराम को सपा का बताया आदमी’

बता दें कि राजस्थान सरकार में कृषि मंत्री रहे किरोड़ी लाल के इस्तीफे की खबरें बीते दिन सामने आईं थी। हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार किरोड़ी लाल ने 10 दिन पहले ही इस्तीफा सौंप दिया था। दरअसल लोकसभा चुनाव 2024 के दौरान किरोड़ी लाल को पूर्वी राजस्थान की जिम्मेदारी मिली थी। ऐसे में उन्होंने वादा किया था कि उनके क्षेत्र में आने वाली सभी सीटों पर बीजेपी की जीत होगी। अगर एक भी सीट पर बीजेपी हारी तो वो अपने पद से इस्तीफा दे देंगे। चुनावी नतीजों में बीजेपी किरोड़ी लाल की गृह सीट दौसा से ही चुनाव हार गई थी। इस चुनाव में बीजेपी को राज्य की 25 में से 14 सीटों पर ही जीत मिली थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com