1. हिन्दी समाचार
  2. क्रिकेट
  3. संन्यास के बाद हरभजन सिंह ने धोनी और BCCI पर लगा दी आरोपों की झड़ी, किए कई बड़े खुलासे

संन्यास के बाद हरभजन सिंह ने धोनी और BCCI पर लगा दी आरोपों की झड़ी, किए कई बड़े खुलासे

भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह ने अब संन्यास के बाद BCCI पर उनके करियर को खत्म करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि बीसीसीआई के कुछ अधिकारी थे, जिनके चलते उनका करियर जल्दी खत्म हो गया।

By Tejaswita Upadhyay 
Updated Date

स्टार ऑफ स्पिनर रहे हरभजन सिंह ने हाल ही में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया है। संन्यास के बाद अब हरभजन क्रिकेट जगत के बारे में कई बड़े खुलासे कर रहे हैं। हरभजन के आरोपों के इस कड़ी में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी हैं।  हरभजन ने कहा कि उन्हें टीम से बाहर क्यों किया गया था, इसका कारण उन्हें कभी नहीं बताया गया। उन्होंने बीसीसीआई पर भी जमकर निशाना साधा है।

पढ़ें :- रोहित शर्मा के लिए सबसे बड़ी चुनौती फिट रहना : अजीत अगरकर

BCCI  अधिकारी नहीं चाहते थे टीम इंडिया में मेरी वापसी 

हरभजन ने एक इंटरव्यू में कहा कि, बीसीसीआई के कुछ लोगों के वजह से मैं आगे नहीं बढ़ पाया क्योंकि इसके कुछ अधिकारी नहीं चाहते थे की मैं टीम इण्डिया में वापसी करूँ। यह तो मेरा लक था जिसके बलबूते पर मैं यहां तक आ पाया। सिर्फ कुछ बाहरी तत्व ही थे, जो मेरे पक्ष में नहीं थे।यह कहना भी कतई गलत नहीं होगा की वो पूरी तरह मेरे खिलाफ थे। इसका कारण  यह था कि मैं जिस तरह से गेंदबाजी कर रहा था और शानदार तरीके से आगे बढ़ रहा था। मैं 31 साल का था, तब तक मैं 400 विकेट ले चुका था। उस वक्त मेरे दिमाग में अगले 4-5 साल और खेलने का खयाल था। यदि यह होता तो मेरे खाते में 100-150 विकेट और होते।

धोनी के पास था BCCI का था समर्थन 

हरभजन ने कहा, ‘धोनी के पास अन्य खिलाड़ियों की तुलना में बीसीसीआई का ज्यादा समर्थन था और अगर बाकी खिलाड़ियों को भी उसी तरह का समर्थन मिलता, तो वे भी बेहतर खेल दिखा सकते थें। ऐसा नहीं था कि बाकी खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करना भूल गए या किया नहीं। हरभजन ने आगे कहा, हर क्रिकेटर का सपना होता है की वो जर्सी पहन कर रिटायरमेंट ले लेकिन किस्मत हमेशा आपके साथ नहीं होती और कभी-कभी आप जो चाहते हैं वह नहीं होता है।’

पढ़ें :- क्रिकेट की दुनिया में आज का दिन : भारतीय टीम ने आज ही के दिन ऑस्ट्रेलिया में जीती थी अपनी पहली टेस्ट श्रृंखला

मेरे जिंदगी में बहुत विलेन हैं 

हरभजन ने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा की मैं चाहता हूँ की मेरे जिंदगी पर भी एक फिल्म बने ताकि लोग मेरा पक्ष देख सकें। लोग जान सकें की मैंने अपने करियर में क्या किया और बाकी लोगों ने मेरे साथ क्या किया। अगर मेरी बायोपिक बनती है तो उसमें एक नहीं बल्कि बहुत सारे विलेन होंगे। हरभजन ने अपने शानदार खेल करियर के दौरान 103 टेस्ट में 417 विकेट, 236 वनडे अंतराष्ट्रीय मैचों में 269 विकेट लिया। 28 टी20 अंतराष्ट्रीय मुकाबले में भज्जी ने 25 विकेट लिए हैं।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...