1. हिन्दी समाचार
  2. क्रिकेट
  3. Virat Kohli Resigns: T-20, वनडे के बाद विराट कोहली ने टेस्ट की कप्तानी भी छोड़ी, ट्वीट कर सभी को चौंकाया

Virat Kohli Resigns: T-20, वनडे के बाद विराट कोहली ने टेस्ट की कप्तानी भी छोड़ी, ट्वीट कर सभी को चौंकाया

विराट कोहली ने कप्तानी छोड़ते हुए नोट में लिखा- मैंने 7 साल तक टीम इंडिया को सही दिशा में ले जाने के लिए कड़ी मेहनत की। अपना काम मैंने पूरी ईमानदारी के साथ किया और कुछ भी नहीं छोड़ा।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 15 जनवरी। क्रिकेटर विराट कोहली ने टेस्ट की भी कप्तानी छोड़ दी है। विराट कोहली ने शनिवार को ट्वीट कर इसकी घोषणा की। कोहली ने ये फैसला दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद लिया है। इस सीरीज में दक्षिण अफ्रीका ने टीम इंडिया को 2-1 से हराया था। विराट कोहली ने कैप्टेंसी छोड़ने का ऐलान सोशल मीडिया पर किया।

पढ़ें :- विराट कोहली को हटा रोहित शर्मा बने भारतीय क्रिकेट टीम के नए वनडे कप्तान, अफ्रीका दौरे के लिए टेस्ट टीम का भी हुआ ऐलान

इसी के साथ ही कोहली ने पिछले 3 महीने के अंदर तीन फॉर्मेट्स की कप्तानी छोड़ी दी है। उन्होंने T-20 विश्व कप के बाद T-20 की कप्तानी छोड़ दी थी। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से पहले विराट कोहली को वनडे की कैप्टेंसी से हटाया गया था। अब कोहली ने खुद ही टेस्ट की कप्तानी छोड़ दी है। हालांकि कोहली बतौर खिलाड़ी खेलते रहेंगे।

पढ़ें :- वेस्टइंडीज के खिलाफ शानदार प्रदर्शन पर मोईन अली ने सीएसके को दिया श्रेय

पूरे नोट में सिर्फ 2 लोगों का जिक्र

विरोट कोहली ने ट्वीट पर अपने नोट में सिर्फ दो लोगों के नाम लिए। उन्होंने आखिर की 4 लाइनों में खिलाड़ियों में सिर्फ महेंद्र सिंह धोनी और कोच में सिर्फ रवि शास्त्री का जिक्र किया है। कोहली तीन कोच के अंडर बतौर कप्तान काम कर चुके हैं। जिसमें रवि शास्त्री के अलावा अनिल कुंबले और राहुल द्रविड़ भी शामिल हैं। कुंबले के साथ कोहली का विवाद काफी चर्चित रहा था। इसके बाद कुंबले ने कोचिंग पद से इस्तीफा दे दिया था। वहीं राहुल द्रविड़ हाल ही में हेड कोच बने हैं।

कोहली का पोस्ट

विराट कोहली ने कप्तानी छोड़ते हुए नोट में लिखा- मैंने 7 साल तक टीम इंडिया को सही दिशा में ले जाने के लिए कड़ी मेहनत की। अपना काम मैंने पूरी ईमानदारी के साथ किया और कुछ भी नहीं छोड़ा। सभी चीजें एक समय पर आकर रूक जाती हैं। मेरे लिए भी अब बतौर टेस्ट कप्तान रुकने का यही समय है। विराट ने लिखा- इस सफर में मेरे लिए कई अच्छे पल आए और बुरे पल भी देखने को मिले हैं, लेकिन मैंने कभी अपनी कोशिश में कमी नहीं आने दी और अपनी टीम पर विश्वास करना नहीं छोड़ा। हमेशा मैदान पर 120% देने की कोशिश की है। अगर मैं ऐसा नहीं कर पा रहा हूं तो मुझे लगता है कि ये करना सही नहीं है। मेरा दिल पूरी तरह से साफ है और मैं अपनी टीम के साथ बुरा नहीं कर सकता। कोहली ने अपनी पोस्ट में लिखा- मैं रवि शास्त्री और बाकी सपोर्ट ग्रुप को भी शुक्रिया कहना चाहता हूं, वो टेस्ट में हमेशा ऊपर जानी वाली टीम के इंजन थे। आप सभी ने मेरे सफर में और मेरे विजन को पूरा करने में अहम रोल निभाया है। आखिर में मैं महेंद्र सिंह धोनी को ‘थैंक यू’ कहना चाहूंगा। उन्होंने मुझमें एक कप्तान देखा और मुझ पर विश्वास जताया कि मैं भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने में कामयाब हो पाऊंगा।

बतादें कि 33 साल के विराट कोहली ने 2014 में टेस्ट में कप्तानी संभाली थी। कोहली ने अब तक अपने टेस्ट करियर में 99 मैच खेले हैं और 7,962 रन बनाए। जिनमें से 68 मुकाबलों में विराट ने भारतीय टेस्ट टीम का नेतृत्व किया और इस दौरान कुल 5864 रन बनाए। वहीं विरोट ने कप्तानी नहीं करते हुए 31 टेस्ट मैच खेले और 2098 रन बनाए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...