1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. Uttarkashi Avalanche: डंडा-2 पर्वत पर हिमस्खलन से 28 पर्वतारोहियों के फंसे होने की आशंका, बचाव कार्य जारी

Uttarkashi Avalanche: डंडा-2 पर्वत पर हिमस्खलन से 28 पर्वतारोहियों के फंसे होने की आशंका, बचाव कार्य जारी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय वायुसेना को बचाव और राहत अभियान तेज करने का निर्देश दिया। बचाव कार्य में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, सेना और आईटीबीपी के जवानों को तैनात किया गया है। द्रौपदी का डांडा-2 पर्वत चोटी में हिमस्खलन होने के कारण28 पर्वतारोहियों के फंसे होने की आशंका।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

Uttarakhand Avalanche: उत्तराखंड में द्रौपदी के डंडा-2 पर्वत शिखर पर हिमस्खलन की चपेट में आने से 28 से ज्यादा प्रशिक्षु पर्वतारोही के फंसे होने की आशंका है। इनमें से आठ को बचा लिया गया है, जबकि अन्य को सुरक्षित निकालने के प्रयास जारी हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पर्वतारोहियों को सकुशल निकालने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से वायु सेना की मदद मांगी है. जानकारी के मुताबिक, नेहरू पर्वतारोहण संस्थान के एडवांस प्रशिक्षण कोर्स के दौरान द्रौपदी का डांडा में एवलॉन्च आने से दो प्रशिक्षकों के मौत हो गई है. दोनों प्रशिक्षक उत्तरकाशी निवासी बताए जा रहे हैं. रेस्क्यू टीम अन्य प्रशिक्षुओं को रेस्क्यू करने में जुट गई है।

पढ़ें :- Kashmir news:कुपवाड़ा में नियंत्रण रेखा के पास हिमस्खलन में सेना के 3 जवान शहीद,शव हुआ बरामद

प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार आज सुबह करीब नौ बजे हिमस्खलन की घटना हुई है। उत्तरकाशी के द्रौपदी का डांडा क्षेत्र में एडवांस प्रशिक्षण के लिए 28 लोगों की टीम गई थी. वहीं, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से रेस्क्यू अभियान में तेजी लाने के लिए वायु सेना की मदद मांगी है. जिस पर राजनाथ ने मदद का आश्वासन दिया है.

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि, नेहरू पर्वतारोहण संस्थान, एनआईएम उत्तरकाशी के भुक्की के पास चल रहे बेसिक और एडवांस कोर्स के बच्चे आज सुबह पर्वतारोहण की ट्रेंनिंग के लिए द्रोपदी के डण्डा पहुंचे थे. जिसकी ऊंचाई करीब ऊंचाई 5006 मीटर है. जहां अचानक एवलांच आने से प्रशिक्षणार्थी फंस गए हैं, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि ट्रेनिंग में प्रशिक्षक व प्रशिक्षणार्थी सहित कुल 175 लोग थे. जिसमें 29 लोग एवलांच की चपेट में आये हैं. 8 लोगों का रेस्क्यू कर लिया गया है 21 लोगों का रेस्क्यू कार्य गतिमान है रेस्क्यू के लिए हैली कि मदद ली जा रही है.

साथ ही प्रशिक्षार्थियों को जल्द से जल्द सकुशल बाहर निकालने के लिए एनआईएम की टीम के साथ जिला प्रशासन, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, सेना और आईटीबीपी के जवानों द्वारा तेजी से राहत एवं बचाव कार्य चलाया जा रहा है. वहीं, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने एवलॉन्च में दो प्रशिक्षकों की मौत पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने ट्टीट कर शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदनाएं जताई हैं. इसके अलावा उन्होंने सीएम धामी से भी बात की और घटना की जानकारी ली. उन्होंने वायु सेना को बचाव और राहत अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं

पढ़ें :- उत्तराखंड: केदारनाथ मंदिर के पास हुआ जबरदस्त हिमस्खलन, किसी नुकसान की खबर नहीं
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...