1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. अमरनाथ से आईटीबीपी ने 15 हजार लोगों को निकाला सुरक्षित

अमरनाथ से आईटीबीपी ने 15 हजार लोगों को निकाला सुरक्षित

अमरनाथ यात्रा में बादल फटने से कल यात्रियों को भारी तबाही का सामना करना पड़ा था। स्वास्थ्य विभाग सहित सेना अलर्ट मोड पर है। आईटीबीपी की टीम ने अभी तक करीब 15 हजार लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 09 जुलाई। उत्तराखंड के दुर्गम इलाकों से होकर गुजरने वाले अमरनाथ यात्रा को कुछ समय के लिए रोक दिया गया है। कल शाम बादल फटने की घटना के चलते रास्ते में बने यात्रियों के टेंट बह गये थे। साथ ही इस दुर्घटना के कारण यात्रा में आने वाले करीब 16 श्रदालुओं की मृत्यु हो गई। फिलहाल आईटीबीपी की टीम के जवानों ने बताया कि उनकी सेना द्वारा यात्रा से करीब 15 हजार लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है।

पढ़ें :- Amarnath Yatra 2022: अमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, 15 श्रद्धालुओं की मौत, कई बहे, कई लोग फंसे

आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक पांडेय ने कहा कि घायल मरीजों के बेहतर इलाज की व्यवस्था की गई है। बाढ़ की वजह से पवित्र गुफा क्षेत्र के पास फंसे अधिकांश श्रद्धालुओं को पंजतरणी में भेज दिया गया है।

हालात को देखते हुए स्वास्थ्य सेवा निदेशालय, कश्मीर ने कर्मचारियों के सभी अवकाश रद्द कर दिए और उन्हें तुरंत ड्यूटी पर रिपोर्ट करने का निर्देश दिया है। फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन अभी जारी है।

इस हादसे में मलबे में दबने से अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 40 यात्री लापता हैं। इस हादसे में 65 लोग घायल हुए हैं. आंकड़ा बढ़ सकता है. हेल्पलाइन नंबर- एनडीआरएफ: 011-23438252 011-23438253 कश्मीर संभागीय हेल्पलाइन: 0194-2496240 श्राइन बोर्ड हेल्पलाइन: 0194-2313149 जारी किए गए हैं। हालांकि, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि यह घटना बादल फटने की वजह से नहीं हुई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...