1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. Bhyundar Valley : इस साल 1 जून से खुलेगी फूलों की घाटी भ्यूंडार वैली, मार्गों की मरम्मत में जुटा वन विभाग

Bhyundar Valley : इस साल 1 जून से खुलेगी फूलों की घाटी भ्यूंडार वैली, मार्गों की मरम्मत में जुटा वन विभाग

हेमकुंड साहिब-लोकपाल की यात्रा शुरू होने के साथ ही प्रकृति प्रेमी पर्यटकों का भ्यूंडार वैली में भी आवागमन शुरू हो जाएगा। क्षेत्र की फूलों की घाटी 1 जून से पर्यटकों के लिए खुल रही है। स्थानीय वन प्रशासन इस घाटी को जोड़ने वाले मार्गों की मरम्मत में जुटा है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

जोशीमठ, 20 मई। हेमकुंड साहिब-लोकपाल की यात्रा शुरू होने के साथ ही प्रकृति प्रेमी पर्यटकों का भ्यूंडार वैली में भी आवागमन शुरू हो जाएगा। क्षेत्र की फूलों की घाटी 1 जून से पर्यटकों के लिए खुल रही है। स्थानीय वन प्रशासन इस घाटी को जोड़ने वाले मार्गों की मरम्मत में जुटा है।

पढ़ें :- Uttarakhand : IAS अधिकारी रामविलास यादव आय से अधिक सम्पत्ति मामले में फंसे, कई ठिकानों पर उत्तराखंड विजिलेंस की रेड

पैदल मार्गों की मरम्मत का काम जारी

नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क के DFO एनबी शर्मा ने बताया कि फूलों की घाटी का दीदार करने पहुंचने वाले विश्वभर के पर्यटकों को किसी तरह की दिक्कतें ना हो, इसके लिए वन विभाग तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा है। वन विभाग ने ध्वस्त द्वारी पुल, बामनधौड़ पुल आदि की मरम्मत करा चुका है, जबकि पैदल मार्गों की मरम्मत का काम चल रहा है।

पिछले साल 4 महीनों मे 9,404 पर्यटकों ने किए फूलों की घाटी के दीदार

पढ़ें :- Uttarakhand : चहुंमुखी विकास की ओर अग्रसर है उत्तराखंड, लोगों का हो रहा है री-वेरिफिकेशन- CM पुष्कर सिंह धामी

फूलों की घाटी रेंज के ऑफिसर बृजमोहन भारती ने बताया कि इस साल दो महिला फॉरेस्ट गार्ड के साथ ही कुल 6 वन कार्मिकों की तैनाती फूलों की घाटी के लिए ही की गई है। भारती ने बताया कि कोविड के कारण पिछले साल 1 जुलाई को फूलों की घाटी पर्यटकों के लिए खोली गई थी और 31 अक्टूबर तक 4 महीनों मे 9 हजार 404 पर्यटक फूलों की घाटी का दीदार करने पहुंचे, जिनमें 15 विदेशी भी शामिल थे।

पर्यटकों के फूलों की घाटी में पहुंचने की उम्मीद

गौरतलब है कि पहाड़ों की बीच विश्व धरोहर फूलों की घाटी का दीदार करने के लिए हर साल देशी-विदेशी पर्यटक पहुंचते हैं। दो साल के कोरोना काल के बाद इस साल फूलों की घाटी तय समय पर खुल रही है। वन विभाग को चारधाम यात्रा के चलते इस साल बड़ी संख्या में पर्यटकों के फूलों की घाटी में पहुंचने की उम्मीद है।

फूलों की घाटी में इस साल भी नहीं बढ़ा पर्यटक शुल्क

बतादें कि वन विभाग फूलों की घाटी की सैर करने वाले पर्यटकों से पर्यटक शुल्क वसूल करता है। विभाग ने इस साल भी पर्यटक शुल्क नहीं बढ़ाया है। विभाग भारतीय पर्यटकों के लिए 150 रुपये और विदेशी पर्यटकों से 600 रुपये वसूल करता है। इस फूलों की घाटी को विश्व संगठन यूनेस्को ने साल 1982 में विश्व धरोहर घोषित किया था। ये नन्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान का एक भाग है।

पढ़ें :- Uttarakhand : हेमकुंड साहिब और लोकपाल के खुले कपाट, दो साल बाद दिखी रौनक

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...