1. हिन्दी समाचार
  2. ऑटो
  3. चेन्नई-मैसूर वंदे भारत एक्सप्रेस सेवा 11 नवंबर से शुरू होगी, आज से ट्रायल रन शुरू

चेन्नई-मैसूर वंदे भारत एक्सप्रेस सेवा 11 नवंबर से शुरू होगी, आज से ट्रायल रन शुरू

चेन्नई-मैसूर वंदे भारत ट्रेन का ट्रायल रन आज चेन्नई के एमजी रामचंद्रन सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर शुरू हुआ। 11 नवंबर के पीएम मोदी इसे हरी झंडी दिखाएंगे।

By रुचि उपाध्याय 
Updated Date

Vande Bharat Express Train: चेन्नई-मैसूर वंदे भारत एक्सप्रेस के ट्रायल रन को सोमवार सुबह चेन्नई एमजी रामचंद्रन सेंट्रल रेलवे स्टेशन से सुबह करीब छह बजे हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। ट्रेन के लगभग साढ़े छह घंटे में दोनों शहरों के बीच 504 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए दोपहर 12:30 बजे मैसूर पहुंचने की उम्मीद है। एक्सप्रेस ट्रेन दक्षिण में पहली ऐसी स्वदेशी निर्मित हाई-स्पीड रेल है जिसे औपचारिक रूप से 11 नवंबर को पेश किया जाएगा।

पढ़ें :- Gujarat election 2022: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज अहमदाबाद में रोड शो, 30 किलोमीटर का ये है पूरा रूट

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 11 नवंबर को बेंगलुरु की अपनी यात्रा के दौरान देश की पांचवीं वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे और 5,000 करोड़ रुपये की लागत से बने केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के दूसरे टर्मिनल का उद्घाटन करेंगे।

वह राज्य की राजधानी की अपनी यात्रा के दौरान बेंगलुरु के संस्थापक नादप्रभु केम्पेगौड़ा की 108 फुट ऊंची प्रतिमा का भी अनावरण करेंगे।

ट्रेन के सभी 16 डिब्बों में स्वचालित दरवाजे, जीपीएस आधारित ऑडियो-विजुअल यात्री सूचना प्रणाली, मनोरंजन प्रयोजनों के लिए ऑनबोर्ड हॉटस्पॉट वाई-फाई और बहुत ही आरामदायक बैठने की सुविधा है। कार्यकारी वर्ग में घूमने वाली कुर्सियाँ भी हैं।

ट्रेन एमजीआर चेन्नई सेंट्रल से सुबह 5:50 बजे प्रस्थान करेगी और सुबह 10:25 बजे बेंगलुरु सिटी जंक्शन पहुंचेगी। बेंगलुरु से, यह सुबह 10:30 बजे प्रस्थान करेगी और दोपहर 12:30 बजे अपने अंतिम गंतव्य मैसूर पहुंच जाएगी। ट्रेन 6 घंटे 40 मिनट में लगभग 497 किमी की दूरी तय करेगी और सप्ताह में छह दिन चलेगी।

पढ़ें :- हिमाचल रैली के बाद एंबुलेंस को रास्ता देने के लिए पीएम मोदी ने अपने काफिले को रोका

चेन्नई-मैसूर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का किराया
बता दें कि इकोनॉमी क्लास के लिए इसका किराया 921 रुपए तय किया गया है और एग्जीक्यूटिव क्लास के लिए इसका किराया 1880 रुपए तय किया गया है. वहीं मैसूर और बंगलुरू के लिए इस ट्रेन का किराया 368 रुपए और 768 रुपए क्रमश: होगा.

ये है वंदे भारत एक्सप्रेस की खासियत
बता दें कि, गति, सुरक्षा और सेवा इस ट्रेन की पहचान है. वंदे भारत एक्सप्रेस 160 किमी प्रति घंटे की अधिकतम गति तक चल सकती है और इसमें शताब्दी ट्रेन जैसी कोच हैं लेकिन यात्रियों के लिए बेहतर अनुभव है. गति और सुविधा के मामले में यह ट्रेन भारतीय रेलवे के लिए अगली बड़ी छलांग है. इसके अलावा, सभी कोच में ऑटोमेटिक डोर लगे हैं. जीपीएस आधारित ऑडियो-विजुअल यात्री सूचना प्रणाली, मनोरंजन प्रयोजनों के लिए ऑनबोर्ड हॉटस्पॉट वाई-फाई और बहुत ही आरामदायक बैठने की जगह के अलावा घूमने वाली कुर्सियां भी हैं.

साथ ही में इस ट्रेन के सभी कोचों में सभी शौचालय बायो-वैक्यूम प्रकार के हैं. साइड रिक्लाइनर सीट की सुविधा जो एग्जीक्यूटिव क्लास के यात्रियों को दी जा रही है, अब सभी क्लास के लिए उपलब्ध कराई जाएगी. कार्यकारी कोच में 180 डिग्री घूमने वाली सीटों की अतिरिक्त सुविधा है. ट्रेन में टच-फ्री सुविधाओं के साथ बायो-वैक्यूम शौचालय भी बने हुए हैं. प्रत्येक कोच में खाने-पीने की सुविधाओं के साथ एक पेंट्री है. प्रत्येक वंदे भारत एक्सप्रेस में कुल 1,128 यात्रियों के बैठने की क्षमता है.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...