Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. आज नरक चतुर्दशी के साथ हनुमान जयंती भी, जानें शुभ मुहूर्त

आज नरक चतुर्दशी के साथ हनुमान जयंती भी, जानें शुभ मुहूर्त

इस बार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी आज 23 अक्टूबर को है. आज नरक चतुर्दशी के साथ हनुमान जयंती भी है. आइए जानते हैं हनुमान जयंती की पूजा का शुभ समय और पूजा विधि.

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

हिंदू धर्म में भगवान राम भक्त हनुमान के जन्मोत्सव यानि हनुमान जयंती का पर्व बड़े उल्लास और भक्ति भाव के साथ मनाया जाता है. हिंदू पंचांग के अनुसार यूं तो हर साल चैत्र मास की पूर्णिमा को हनुमान जयंती का पर्व मुख्य रूप से मनाया जाता है. परंतु, रामायण व ग्रंथों और पुराणों में कार्तिक मास की चतुर्दशी पर भी हनुमान जयंती का उल्लेख मिलता है. इस बार कार्तिक मास की चतुर्दशी आज 23 अक्टूबर 2022 को है. ऐसे में आज हनुमान जयंती मनाई जा र​ही है. इस दिन भक्त हनुमान जी की विशेष उपासना कर व्रत रखते हैं. आज नरक चतुर्दशी या रूप चौदस भी है.. आइये जानते हैं हनुमान जयंती का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि के बारे में विस्तार से.

पढ़ें :- पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजेश पायलट की 24वीं पुण्यतिथि, बेटे सचिन पायलट, अशोक गहलोत समेत नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

हनुमान जयंती 2022 शुभ मुहूर्त

पंडितों के अनुसार, कार्तिक मास की चतुर्दशी आज 23 अक्टूबर शाम 06 बजकर 03 मिनट पर प्रारंभ होगी, जो अगले दिन 24 अक्टूबर को शाम 05 बजकर 27 मिनट तक रहेगी. हनुमान जयंती पूजा के लिए शुभ मुहूर्त आज सुबह 10.41 बजे से दोपहर 12.05 बजे तक रहेगा. इसके बाद शाम में 07.19 बजे से लेकर रात्रि 08.55 बजे तक शुभ मुहूर्त रहेगा.

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, कार्तिक मास की हनुमान जयंती पर बजरंगबली की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है. इसके लिए सुबह जल्दी उठकर व्रत संकल्प धारण किया जाता है. इस दिन हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी की मूर्ति को सिंदूर अर्पित करना बेहद शुभ होता है. इस दिन पवित्र नदियों मे स्नान करना और दान पुण्य करना उत्तम फलदायी होता है. हनुमान जी के साथ भगवान राम और माता सीता की पूजा करनी चाहिए.

हनुमान जी को लाल चंदन, अक्षत्त, मौली, फूल, धूप-दीप, वस्त्र, फल, पान आदि वस्तुएं चढ़ानी चाहिए. हनुमान जयंती पर हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए. इसके बाद आरती के साथ पूजा संपन्न करनी चाहिए और प्रसाद का वितरण करना चाहिए. इससे हनुमान जी की कृपा सदैव परिवार पर बनी रहती है और सभी तरह के कष्टों से मुक्ति मिलती है.

पढ़ें :- Hardoi : पेट्रोल पंप पर अचानक बाइक स्टार्ट करतेमें लगी आग, जानें कारण ?

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com