1. हिन्दी समाचार
  2. हेल्थ
  3. Chyawanprash: जानें किन लोगों को नहीं खाना चाहिए च्यवनप्राश, पढ़ें खाने का सही तरीका व समय

Chyawanprash: जानें किन लोगों को नहीं खाना चाहिए च्यवनप्राश, पढ़ें खाने का सही तरीका व समय

सर्दियां आते ही लोग च्यवनप्राश का सेवन करने लगते हैं। लेकिन आपको बता दें कि इसे सेवन करने का एक सही समय और तरीका होता है। आइए जानते हैं च्यवनप्राश कब खाना सही होता है, और किन लोगों को इसे खाते समय विशेष सावधानी बरतनी चाहिए।

By Vikas Arya 
Updated Date

नई दिल्ली, विकास आर्य। Chyawanprash: बचपन से ही हमारे बुजुर्ग हमें सर्दी से बचने के लिए च्यवनप्राश खाने की सलाह देते हैं। हम लोगों में से कई लोगों ने च्यवनप्राश बचपन से खाया भी हो होगा। अच्छी सेहत के लिए इसका सेवन किया जाता है और ये हमारे शरीर को तंदुरुस्ती भी प्रदान करता है। लेकिन आपको बता दें कि इसे खाने का एक सही समय और तरीका होता है। स्वास्थ्य की कुछ विशेष परिस्थितियों वालों को ये नुकसान भी पहुंचा सकता है। इस लेख में जानते हैं च्यवनप्राश खाने का सही समय और किन लोगों को इससे दूरी बनानी चाहिए।

पढ़ें :- MonkeyPox : विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी, दुनिया पर छाया मंकीपॉक्स का खतरा, तेज हो सकता है संक्रमण

इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने में सहायक है च्यवनप्राश

च्यवनप्राश इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाता है और बीमार होने का जोखिम करता है. यह शरीर को संक्रमण मुक्त भी रखता है. अगर आप च्यवनप्राश नहीं खाते, तो दवा के रूप में ही सही, इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए इसे खाना शुरू कर दीजिए. लेकिन यह भी जान लेना जरूरी है कि स्वास्थ्य स्थिति को देखते च्यवनप्राश के सेवन को रोक भी देना चाहिए.

इस तरह बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता 

च्यवनप्राश में कई तरह की जड़ी-बूटियां और मसाले होते हैं. यह विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर होता है. इसमें आवंले का भी इस्तेमाल होता है जो इसके सेवन से शरीर को विटामिन सी देता है. भारतीय घरों में सर्दियों के मौसम में इसका सेवन ज्यादा होता है, यहां आपको बता दें कि आप सालभर इसका सेवन कर सकते हैं.

पढ़ें :- North Korea : उत्तर कोरिया में अज्ञात बुखार का कहर, 17,400 नए मरीज, 21 की मौत

प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मददगार

च्यवनप्राश प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है. यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में यह मदद करता है. यह पुरूष और महिलाओं दोनों में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने का काम करता है.

क्या है च्यवनप्राश खाने का सही तरीका

च्यवनप्राश बहुत ज्यादा मात्रा में खाने से नुकसान भी हो सकता है. अधिक सेवन से अपच, पेट फूलना, पेट में सूजन, लूज मोशन और पेट में दिक्कत हो सकती है. वयस्क रोजाना 1 चम्मच च्यवनप्राश को सुबह शाम गुनगुने दूध या पानी के साथ ले सकते हैं. वहीं बच्चों को रोजाना आधा चम्मच ज्यादा च्यवनप्राश नहीं खिलाना चाहिए.

सांस के मरीजों को रखना चाहिए ध्यान

पढ़ें :- North Korea Confirms First Covid Case : कोरोना का पहला मामला आते ही उत्तर कोरिया में लगा लॉकडाउन

अस्थमा या सांस मरीजों को च्यवनप्राश दूध या दही के साथ नहीं खाना चाहिए. हाई ब्लड शुगर लेवल की समस्या वाले मरीजों को डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसका सेवन करना चाहिए. अगर ब्लड शुगर कंट्रोल है, तो व्यक्ति हर दिन लगभग 3 ग्राम च्यवनप्राश का सेवन कर सकता है.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...