1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Japan : क्वॉड शिखर सम्मेलन में नेताओं ने कहा- वैश्विक शांति के लिए भारत-अमेरिका की दोस्ती अहम

Japan : क्वॉड शिखर सम्मेलन में नेताओं ने कहा- वैश्विक शांति के लिए भारत-अमेरिका की दोस्ती अहम

इंडो-US वैक्सीन एक्शन प्रोग्राम के नवीनीकरण का जिक्र करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि भारत और अमेरिका मिलकर बहुत कुछ कर सकते हैं। हम भारत के साथ धरती की अब तक की सबसे अच्छी दोस्ती करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

टोक्यो, 24 मई। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा है कि अमेरिका भारत के साथ धरती की सबसे अच्छी दोस्ती के लिए प्रतिबद्ध है। जापान की राजधानी टोक्यो में क्वॉड शिखर सम्मेलन के लिए जुटे दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय बातचीत में वैश्विक शांति के लिए भारत और अमेरिका दोस्ती को अहम करार दिया।

पढ़ें :- Japan : बाइडेन ने किया हिंद प्रशांत व्यापार समझौते का ऐलान, भारत मजबूत हिस्सा, चीन परेशान

भारत और अमेरिका मिलकर बहुत कुछ कर सकते हैं- बाइडन

पढ़ें :- रूस ने यूक्रेन के जिन हिस्सों को दी मान्यता, वहां अमेरिका ने लगाये प्रतिबंध

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारत-अमेरिका की साझेदारी को सही मायने में विश्वास की साझेदारी करार दिया है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के साझा हितों और मूल्यों ने विश्वास के बंधन को मजबूत किया है। उन्होंने भारत में US डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन का काम जारी रखने, वैक्सीन उत्पादन, स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्र में दोनों देशों के बीच हुए समझौतों का स्वागत किया। इंडो-US वैक्सीन एक्शन प्रोग्राम के नवीनीकरण का जिक्र करते हुए कहा कि भारत और अमेरिका मिलकर बहुत कुछ कर सकते हैं। हम भारत के साथ धरती की अबतक की सबसे अच्छी दोस्ती करने के लिए प्रतिबद्ध है। जो बाइडेन ने पीएम मोदी के सामने रूस-यूक्रेन युद्ध का मसला भी उठाया।

भारत और अमेरिका के समान हितों में विश्वास मजबूत हुआ- पीएम मोदी

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के समान हितों में विश्वास मजबूत हुआ है। दोनों देशों की दोस्ती को मानव कल्याण के लिए प्रतिबद्ध करार देते हुए उन्होंने कहा कि हिंद-प्रशांत मामले पर हम समान विचारधारा वाले देशों के साथ समान विचार साझा करते हैं। जिससे हमारी चिंताओं और हितों की रक्षा के लिए काम किया जा सके। उन्होंने विश्वास जाहीर किया कि ‘इंडिया-यूएसए इन्वेस्टमेंट इनसेंटिव एग्रीमेंट से निवेश की दिशा में मजबूत प्रगति देखने को मिलेगी। हम तकनीकी के क्षेत्र में अपना द्विपक्षीय सहयोग बढ़ा रहे हैं और वैश्विक मुद्दों पर भी आपसी समन्वय कर रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...