Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP : खाकी हुई बदनाम, छेड़खानी मामले में रिश्वत लेता दारोगा CCTV में हुआ कैद

UP : खाकी हुई बदनाम, छेड़खानी मामले में रिश्वत लेता दारोगा CCTV में हुआ कैद

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले से एक बार फिर खाकी को बदनाम कर देने वाली तस्वीरें सामने आई हैं।

By up bureau 

Updated Date

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले से एक बार फिर खाकी को बदनाम कर देने वाली तस्वीरें सामने आई हैं। यहां हरदुआगंज थाना क्षेत्र के हलका चौकी इंचार्ज का छेड़खानी के मामले में समझौता कराने के नाम पर रिश्वत लेते हुए का वीडियो सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ है। पुलिस के दारोगा का रिश्वत लेते हुए का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस क्षेत्राधिकारी अतरौली द्वारा दारोगा के खिलाफ जांच कर विभागीय कार्रवाई के लिए अपनी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंप दी है।

पढ़ें :- कासगंज : राष्ट्रपिता की मूर्ति पर पहनाया भगवा वस्त्र, भड़के कांग्रेसी पुलिस से भिडे

यह है पूरा मामला

दरअसल हरदुआगंज थाना क्षेत्र के गांव चौहानपुर में दो पक्षों में विवाद हो गया था। इसके बाद एक पक्ष ने थाने में दूसरे पक्ष के खिलाफ युवती से छेड़खानी और मारपीट की शिकायत थाने में दर्ज करवाई गई। बाद में ग्रामीणों के हस्तक्षेप के बाद दोनों पक्षों में आपस में समझौता हो गया। इस मामले में गांव के ही रहने वाले संजय चैहान ने बताया कि वह ताला कारोबारी हैं और उनकी फैक्ट्री तालानगरी में है।

संजय ने बताया कि दोनों पक्षों में हुए विवाद के बाद समझौते के लिए जब उन्होंने हल्का चौकी इंचार्ज से कहाए तो उन्होंने इसकी एवज में 20 हजार रुपये की मांग की। संजय ने बताया कि फैक्ट्री पर उन्होंने दोनों पक्षों को बुला लिया, जहां दारोगा भी पहुंच गया। दारोगा ने 20 हजार रुपये की मांग की। जिस पर एक पक्ष ने तीन हजार रुपये दे भी दिये। इस पर दारोगा नाराज हो गया और बाकी के 17 हजार रुपये फैक्ट्री स्वामी संजय चौहान से मांगने लगा। दारोगा का रुपये मांगते हुए और 3 हजार रुपये लेते हुए का वीडियो संजय की फैक्ट्री में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। दारोगा का रुपये लेने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, तो अधिकारियों ने भी इसका संज्ञान लिया।

पुलिस क्षेत्राधिकारी अतरौली अकमल खान ने बताया कि हल्का चौकी इंचार्ज का रिश्वत लेते हुए का वीडियो सामने आया है, जिस पर उनके द्वारा जांच की गई और जांच रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को कार्रवाई के लिए दी गई है।

पढ़ें :- नेमप्लेट विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, दुकानदारों को अपनी पहचान बताने की जरूरत नहीं

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com