1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. ताइवानी राष्ट्रपति व नैंसी पेलोसी की मुलाकात में शांति व स्थिरता पर जोर

ताइवानी राष्ट्रपति व नैंसी पेलोसी की मुलाकात में शांति व स्थिरता पर जोर

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी और ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन के बीच मुलाकात में शांति व स्थिरता पर जोर दिया गया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

ताइपे, 03 अगस्त 2022। चीन के घनघोर विरोध के बावजूद ताइवान की यात्रा पर पहुंची अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी और ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन के बीच मुलाकात में शांति व स्थिरता पर जोर दिया गया। ताइवान ने अपनी संप्रभुता बनाए रखने की बात कही और अमेरिका को ताइवान का साथ देने के लिए धन्यवाद भी दिया।

पढ़ें :- अलकायदा सरगना अल जवाहिरी की अमेरिकी ड्रोन हमले में मौत, बाइडेन ने कहा- इंसाफ हो गया

पेलोसी व वेन की मुलाकात बेहद गर्मजोशी भरी रही। वेन ने इस मुलाकात पर खुशी जताते हुआ है कि अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष पेलोसी वास्तव में ताइवान के सबसे समर्पित मित्रों में से एक हैं। ताइवान के लिए अमेरिकी कांग्रेस के कट्टर समर्थन को प्रदर्शित करने के लिए ताइवान की यात्रा करने के लिए आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि ताइवान के लोग अपने देश की संप्रभुता को मजबूती से बनाए रखेंगे और रक्षा रेखा को बनाए रखेंगे।

उन्होंने कहा कि ताइवान लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा के लिए दुनिया भर के सभी लोकतंत्रों के साथ सहयोग और एकता के साथ काम करना चाहता है। ताइवान में शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्धता जाहिर करते हुए कहा कि ताइवान एक स्वतंत्र और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रीय सुरक्षा के तौर पर एक प्रमुख स्थिर शक्ति बना सकता है।

ताइवान की राष्ट्रपति के साथ मुलाकात के बाद नैंसी पेलोसी ने कहा कि अमेरिका ने हमेशा ताइवान के साथ खड़े रहने का वादा किया है। इसकी मजबूत नींव के पीछे आर्थिक समृद्धि के प्रति हमारी प्रतिबद्धता और दुनिया में पारस्परिक सुरक्षा पर केंद्रित एक संपन्न साझेदारी ही मूल तत्व है। उन्होंने कहा कि ताइवान का संपूर्ण समाज वास्तव में दुनिया के लिए मिसाल है। ताइवान में लोकतंत्र फल-फूल रहा है। ताइवान ने दुनिया को साबित किया है कि चुनौतियों के बावजूद अगर आशा, साहस और दृढ़ संकल्प है तो आप समृद्ध भविष्य का निर्माण कर सकते हैं। उन्होंने ताइवान के साथ अमेरिका की एकजुटता को महत्वपूर्ण करार देते हुए कहा कि वे यही संदेश लेकर ताइवान पहुंची हैं।

पढ़ें :- Nupur Sharma Controversy : नूपुर शर्मा माफी मांग सकती हैं तो ओवैसी क्यों नहीं?- राज ठाकरे
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...