1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. पीएम मोदी ने ऋषि सुनक को ब्रिटेन का प्रधानमंत्री निर्वाचित होने पर बधाई दी,कहा- अब हम मिलकर काम करेंगे

पीएम मोदी ने ऋषि सुनक को ब्रिटेन का प्रधानमंत्री निर्वाचित होने पर बधाई दी,कहा- अब हम मिलकर काम करेंगे

पीएम मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ऋषि सुनक को हार्दिक बधाई! चूंकि आप ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बनने वाले हैं, मैं वैश्विक मुद्दों पर एक साथ मिलकर काम करने और रोडमैप 2030 को लागू करने के लिए उत्सुक हूं.

By Ruchi Kumari 
Updated Date

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय मूल के ऋषि सुनक को ब्रिटेन का नया प्रधानमंत्री चुने जाने पर बधाई दी. प्रधानमंत्री ने कहा, वह वैश्विक मुद्दों पर साथ मिलकर काम करने तथा रोडमैप 2030 को लागू करने को लेकर उत्सुक हैं.

पढ़ें :- स्क्विड गेम में नजर आ चुके 78 साल के एक्टर O Yeong-su पर लगा यौन शोषण का आरोप

पीएम मोदी ने ट्वीट कर सुनक को दी बधाई

पीएम मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ऋषि सुनक को हार्दिक बधाई! चूंकि आप ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बनने वाले हैं, मैं वैश्विक मुद्दों पर एक साथ मिलकर काम करने और रोडमैप 2030 को लागू करने के लिए उत्सुक हूं. ब्रिटिश भारतीयों के जीवंत सेतु को दिवाली की विशेष शुभकामनाएं. हमने ऐतिहासिक संबंधों को आधुनिक साझेदारी में बदला है.

वहीं, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री चुने जाने पर ऋषि सुनक ने कहा है कि वे अपने साथी सांसदों का समर्थन पाने और नेता चुने जाने के बाद खुद को सम्‍मानित महसूस कर रहे हैं. वे इस जिम्‍मेदारी को विनम्रता से स्‍वीकार करते हैं.

बता दें कि भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बनकर नया इतिहास रचने जा रहे हैं. दीवाली के दिन पेनी मॉर्डंट के दौड़ से हटने की घोषणा के साथ ही सुनक को कंजरवेटिव पार्टी का निर्विरोध नेता चुन लिया गया. 42 साल के इस पूर्व वित्त मंत्री सुनक को कंजरवेटिव पार्टी के 357 में से आधे से अधिक सांसदों का समर्थन मिला जबकि उन्हें जीत के लिए कम से कम 100 सांसदों के समर्थन की जरूरत थी.

इस चुनाव में कंजरवेटिव पार्टी के कई चर्चित सांसदों ने पूर्व पीएम बोरिस जॉनसन के खेमे को छोड़ते हुए सुनक का समर्थन किया, जिनमें पूर्व गृह मंत्री प्रीति पटेल, कैबिनेट मंत्री जेम्स क्लेवर्ली और नदीम जहावी शामिल रहे. प्रीति पटेल भारतीय मूल की पूर्व ब्रिटिश मंत्री हैं जिन्होंने पिछले महीने लिज ट्रस के प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने कहा कि कंजरवेटिव पार्टी को सुनक को नेतृत्व करने का मौका देना चाहिए.

अब सुनक की जीत उनके राजनीतिक भाग्य में एक उल्लेखनीय बदलाव का प्रतीक है, जो पिछले महीने सत्तारूढ़ पार्टी के सांसदों का समर्थन नहीं मिलने के बाद निवर्तमान प्रधानमंत्री लिज ट्रस से चुनाव हार गए थे. हालांकि कंजरवेटिव पार्टी में ट्रस के नेतृत्व के खिलाफ खुला विद्रोह हो गया था, जिसके चलते सिर्फ 45 दिन तक प्रधानमंत्री रहने के बाद ट्रस ने पीएम पद से इस्तीफा दे दिया था

पढ़ें :- कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ खान पुलिसवालों से बदतमीजी करने के आरोप में गिरफ्तार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...