1. हिन्दी समाचार
  2. अन्य खबरें
  3. राज्यसभा में सभापति की ओर कागज उछालने पर आप नेता संजय सिंह निलंबित

राज्यसभा में सभापति की ओर कागज उछालने पर आप नेता संजय सिंह निलंबित

इस सप्ताह में सदन की कार्यवाही से उपसभापति ने किया निलंबित, संजय सिंह को मिलाकर उच्च सदन से अब तक 20 सदस्य निलंबित हो चुके हैं।

By Vikas Arya 
Updated Date

नई दिल्ली, 27 जुलाई। राज्यसभा में विपक्षी सदस्यों के निलंबन को रद्द करने और महंगाई के मुद्दे पर चर्चा की मांग को लेकर हंगामें के कारण कोई कामकाज न हो सका और तीन बार के गतिरोध के बाद सदन की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई। वहीं, सभापति के आसन की ओर कागज उछालने और कार्यवाही में बाधा डालने के कारण आम आदमी पार्टी (आप) के संजय सिंह को इस सप्ताह की शेष अवधि के लिए सदन से निलंबित भी कर दिया गया।

पढ़ें :- Delhi pollution पर आप सरकार ने किया ट्रकों की एंट्री बैन, 50% कर्मचारी करेंगे WFH

बुधवार को शून्यकाल की कार्यवाही के दौरान एक बार के स्थगन के बाद बैठक शुरू होने पर उपसभापति हरिवंश ने सदन को सूचित करते हुए कहा कि संजय सिंह ने बीते मंगलवार को सभापति के आसन की ओर कागज फाड़कर उछाले थे और कार्यवाही में बाधा उत्पन्न करने के लिए शोरगुल और हंगामा किया था।

उपसभापति ने कहा कि संजय सिंह का यह आचरण सदन के मान्य नियमों के अनुकूल नही था। इस कारण उनके खिलाफ नियम 256 के तहत कार्रवाई की जाएगी। तत्पश्चात, संसदीय कार्य राज्यमंत्री वी. मुरलीधरन ने संजय सिंह को इस सप्ताह की शेष कार्यावधि के लिए सदन से निलंबित करने का प्रस्ताव किया जिसे सदन में ध्वनिमत से पारित कर दिया।

उपसभापति ने संजय सिंह को सदन से बाहर जाने के लिए कहकर बैठक 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई। 12 बजकर 18 मिनट पर कार्यवाही शुरू होने पर उपसभापति हरिवंश ने फिर से संजय सिंह को सदन से बाहर जाने के लिए कहा, किंतु सिंह बाहर जाने की बजाय कुछ बोलने लगे। इस पर हरिवंश ने कहा कि संजय सिंह की कोई बात रिकॉर्ड में नही जाएगी। इसके साथ ही बैठक दो बजे तक स्थगित कर दी गई।

भोजनावकाश के बाद दो बजे सदन की बैठक शुरू होने पर सदन में पूर्ववत हंगामा जारी रहा जिस कारण कार्यवाही गुरूवार, 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

पढ़ें :- Chhath Puja 2022: केजरीवाल सरकार ने 1100 घाटों पर छठ पूजा करने की दी अनुमति

इससे पहले, सुबह 11 बजे सदन की बैठक शुरू होने पर सभापति एम. वेंकैया नायडू ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाने के बाद शून्यकाल की कार्यवाही शुरू की। किंतु, विपक्षी सदस्य महंगाई के मुद्दे पर चर्चा की मांग को लेकर हंगामा करने लगे। सदन में शोरगुल बढ़ता देख नायडू ने बैठक 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

उल्लेखनीय है कि गत मंगलवार को सदन की कार्यवाही में व्यवधान उत्पन्न करने के कारण 19 सदस्यों को इस सप्ताह की शेष अवधि के लिए सदन की बैठक से निलंबित कर दिया गया। आज संजय सिंह के निलंबन के बाद 20 सदस्यों को इस सप्ताह की शेष अवधि के लिए निलंबित किए जा चुके हैं। गत मंगलवार को निलंबित किए गए 19 सदस्यों में तृणमूल कांग्रेस की सुष्मिता देव, मौसम नूर, शांता छेत्री, डोला सेन, डॉ शांतनु, सेन, अभिरंजन बिस्वर, मो. नदीमुल हक शामिल हैं। वहीं, द्रविड़ मुनेत्र कषगम (डीएमके) के ए. हमामेद अब्दुल्ला, एस. कल्याणसुंदरम, आर गिर्रंजन, एनआर एलांगो, डॉ कनमोझी, एम. शनमुगम और तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) बी. लिंगैया यादव, दामोदर राव दिवाकोंडा, रविन्द्र वाड्डीराजू, माकपा के एए रहीम, डॉ वी. शिवदासन और भाकपा के संदोश कुमार पी. शामिल हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...