1. हिन्दी समाचार
  2. बिज़नेस
  3. आठ सहकारी बैंकों पर रिजर्व बैंक ऑफ इंड‍िया (RBI) द्वारा लगाया गया जुर्माना ,जाने क्या है वजह

आठ सहकारी बैंकों पर रिजर्व बैंक ऑफ इंड‍िया (RBI) द्वारा लगाया गया जुर्माना ,जाने क्या है वजह

रिजर्व बैंक ऑफ इंड‍िया (RBI) ने बैंक नियमो का उलंघन करने वाले 8 बैंको पर लगाया जुर्माना जिसमे विशाखापत्तनम को-ऑपरेटिव बैंक पर सबसे अधिक 55 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. केंद्रीय बैंक की तरफ से बयान जारी कर बताया गया क‍ि उसने 8 बैंकों पर जुर्माना लगाया है.

By रेनू मिश्रा 
Updated Date

RBI:रिजर्व बैंक ऑफ इंड‍िया (RBI)ने नियमो मे कमी पाने की वजह से 8 सहकारी बैंको को दिया बढ़ा झटका,अलग अलग बैंको पे लगा अलग अलग जुर्माना जिसमे भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स एम्पलाइज को-ऑपरेटिव बैंक कैलाशपुरम, तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु पर 10 लाख रुपये, केरल के ओत्तापलम को-ऑपरेटिव अर्बन बैंक लिमि‍टेड पर 5 लाख रुपये और हैदराबाद के दारुसलाम को-ऑपरेटिव अर्बन बैंक पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.
विशाखापत्तनम को-ऑपरेटिव बैंक पर सबसे अधिक 55 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. केंद्रीय बैंक की तरफ से बयान जारी कर बताया गया क‍ि उसने 8 बैंकों पर जुर्माना लगाया है.

पढ़ें :- रिजर्व बैंक ने सेंट्रल बैंक पर लगाया 36 लाख रुपये का जुर्माना

आरबीआई द्वारा जुर्माना लगाने की वजह

कई बैंको मे KYC>(केवाईसी) मानदंडो मे उल्लघंन पाने की वजह से जुर्माना लगाया गया है। महाराष्ट्र के वरुद अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक, वरुद, मध्य प्रदेश के जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित, छिंदवाड़ा और महाराष्ट्र के यवतमाल अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक, यवतमाल पर अपने ग्राहक को जानिए मानदंडों में उल्लघंन को लेकर जुर्माना लगाया है। इसके अलावा कुछ केवाईसी प्रावधानों का पालन न करने पर छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक मर्यादित, रायपुर पर 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

RBI द्वारा सबसे ज्‍यादा जुर्माना लगाया जाने वाला बैंक

RBI ने विशाखापत्तनम सहकारी बैंक, विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश पर भी 55 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. बैंक पर यह जुर्माना आवास योजनाओं के लिए आय निर्धारण, परिसंपत्ति वर्गीकरण, प्रावधान और वित्त से संबंधित निर्देशों के उल्लंघन के लिए लगाया गया है.

पढ़ें :- Digital Payment : बिना इंटरनेट भी अब आपका पैसा होगा ट्रांसफर! Offline Digital Payment को मिली मंजूरी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...