Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कंचनजंगा एक्सप्रेस ट्रेन हादसे की वजह आई सामने, मालगाड़ी के लोको पायलट ने की थी लाल सिग्नल की अनदेखी, मृतकों की संख्या बढ़कर हुई आठ  

कंचनजंगा एक्सप्रेस ट्रेन हादसे की वजह आई सामने, मालगाड़ी के लोको पायलट ने की थी लाल सिग्नल की अनदेखी, मृतकों की संख्या बढ़कर हुई आठ  

पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले में सोमवार सुबह 9 बजे हुए ट्रेन हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है। जबकि घायलों की संख्या भी 50 से ज्यादा हो गई है। पूर्व रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कौशिक मित्रा ने बताया कि 8 लोगों की मौत हुई है। जिसमें से 2 लोको पायलट और कंचनजंगा एक्सप्रेस ट्रेन के गार्ड हैं।

By HO BUREAU 

Updated Date

दार्जिलिंग/ कोलकाता। पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले में सोमवार सुबह 9 बजे हुए ट्रेन हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है। जबकि घायलों की संख्या भी 50 से ज्यादा हो गई है। पूर्व रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कौशिक मित्रा ने बताया कि 8 लोगों की मौत हुई है। जिसमें से 2 लोको पायलट और कंचनजंगा एक्सप्रेस ट्रेन के गार्ड हैं।

पढ़ें :- UP में बड़ा रेल हादसाः गोंडा में चंडीगढ़-डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतरे, चार की मौत, 17 यात्री घायल

शुरुआती जांच में मालगाड़ी के लोको पायलट की गलती सामने आई है। लोको पायलट ने लाल सिग्नल की अनदेखी की, जिससे मालगाड़ी पहले से स्टेशन पर खड़ी कंचनजंगा एक्सप्रेस से पीछे से जा टकराई। हादसे पर PM मोदी ने गहरा दुख जताया है। रेल मंत्री ने मृतकों के परिजनों को 10 लाख अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। कहा कि घायलों को हर संभव मेडिकल सुविधा दी जाएगी। रेल मंत्री ने कहा कि घटनास्थल पर राहत व बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है।

हादसे की जानकारी मिलते ही रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव दार्जिलिंग के लिए रवाना हो गए। रेल मंत्री ने दुर्घटना पर गहरा दुख जताते हुए कहा कि बचाव कार्य जारी है। रेलवे, NDRF और SDRF एकसाथ मिलकर काम कर रहे हैं।  रेलवे की ओर से हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। रेलवे ने कहा कि प्रभावित लोगों के परिजन 03323508794 और 03323833326 पर कॉल कर अपने परिजनों या अन्य जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।  वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं।

मालूम हो कि दार्जिलिंग जिले के रंगा पानी और निजबाड़ी स्टेशन के पास  सियालदह जा रही कंचनजंगा एक्सप्रेस (13174) को पीछे से आ रही मालगाड़ी ने टक्कर मार दी। हादसे में कंजनजंगा एक्सप्रेस के कई डिब्बे बेपटरी हो गए। टक्कर इतनी भीषण थी कि एक्सप्रेस के कई डिब्बे पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए। हादसे के बाद चारों तरफ चीख-पुकार मच गई।  रेलवे के अफसर जांच में जुट गए हैं। बताया जा रहा है कि दार्जिलिंग जिले के रंगा पानी और निजबाड़ी स्टेशन के पास हुए हादसे में तीन बोगियां बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। रेलवे की टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हैं।

पढ़ें :- पश्चिम बंगाल में कंचनजंगा एक्सप्रेस हादसा: मृतकों की संख्या बढ़कर हुई 15, 60 जख्मी, मृतकों में मालगाड़ी के लोको पायलट और कंचनजंगा के ट्रेन मैनेजर भी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com