1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. WHO Warns : WHO की चेतावनी, दो महीनों में आधा यूरोप होगा ओमिक्रॉन का शिकार, रहें सावधान

WHO Warns : WHO की चेतावनी, दो महीनों में आधा यूरोप होगा ओमिक्रॉन का शिकार, रहें सावधान

इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मैट्रिक्स एंड इवैलुएशन ने भविष्यवाणी की है कि अगले 6 से 8 सप्ताह में यूरोप की 50 प्रतिशत आबादी कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट की चपेट में होगी।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

कोपेनहेगेन (डेनमार्क), 11 जनवरी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने पूरी दुनिया को एक डराने वाली चेतावनी दी है। WHO में यूरोप के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. हेन्स हेनरी पी क्लग ने कहा है कि अगले 6 से 8 हफ्ते यानी दो महीनों के भीतर आधा यूरोप ओमिक्रॉन का शिकार होगा।

पढ़ें :- Corona Update : पिछले 24 घंटों में मिले 1 लाख 41 हजार से ज्यादा नए कोरोना मरीज, अबतक 3071 ओमिक्रॉन के केस दर्ज, 150.61 करोड़ टीके लगे

डॉ.क्लग ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि साल 2022 की शुरुआत से ही कोरोना का ओमिक्रॉन प्रारूप पूरी दुनिया के लिए मुसीबत बना हुआ है। सिर्फ यूरोपीय देशों में ही 70 लाख से अधिक मरीज सामने आ चुके हैं। यूरोप और मध्य एशिया के 53 में से 50 देशों में ओमिक्रॉन दस्तक दे चुका है। उन्होंने कहा कि इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मैट्रिक्स एंड इवैलुएशन ने भविष्यवाणी की है कि अगले 6 से 8 सप्ताह में यूरोप की 50 प्रतिशत आबादी कोरोना के ओमिक्रॉन प्रारूप की चपेट में होगी।

पढ़ें :- दिल्ली में 24 घंटे में कोरोना के 10,665 केस, 8 की मौत, राजस्थान में ओमिक्रॉन से पहली मौत, तो गुवाहाटी में 13 साल का बच्चा ओमिक्रॉन से संक्रमित

कोरोना के वेरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर दुनियाभर में तनाव भी बढ़ रहा है। मंगलवार को ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री मार्सेलो क्विरोगा ने कहा कि ब्राजील में कोरोना तो बढ़ ही रहा है, कोरोना से संक्रमित लोगों में से सर्वाधिक ओमिक्रॉन वेरिएंट के ही हैं। हताश मार्सेलो क्विरोगा ने कहा कि तमाम चिकित्सकीय प्रयास सफल ही नहीं हो पा रहे हैं। हर तरह के प्रयासों और उपायों के बावजूद कोरोना उन्हें परास्त करता ही जाता है। उन्होंने कोरोना के कई वेरिएंट की तुलना में ओमिक्रॉन को सर्वाधिक प्रभावी प्रारूप करार देते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया। साथ ही कहा कि टीकाकरण की मजबूत रणनीति भी मरीजों की संख्या बढ़ने से नहीं रोक पा रही है। हम बड़ी संख्या में अस्पतालों में कोरोना से तड़पते मरीजों को देख रहे हैं। हमें अकल्पनीय मौतें भी देखनी पड़ रही हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...