1. हिन्दी समाचार
  2. ख़बरें जरा हटके
  3. युद्ध से इंसानी पीढ़ियों को बचाने के लिए बनाई गई विश्वव्यापी संस्था

युद्ध से इंसानी पीढ़ियों को बचाने के लिए बनाई गई विश्वव्यापी संस्था

युद्ध से इंसानी पीढ़ियों को बचाने के लिए विश्वव्यापी सुरक्षा परिषद की पहली बैठक आज के ही दिन लंदन में संपन्न हुई थी।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

दुनिया में शांति की संरक्षक संस्थाः युद्ध की विभीषिका से उपजे संकट के बीच इंसानी पीढ़ियों को बचाने के लिए एक विश्वव्यापी अधिकार संपन्न संस्था की जरूरत हुई। इसी वैश्विक चिंता ने संयुक्त राष्ट्र जैसी संस्था को जन्म दिया।

पढ़ें :- Dussehra 2022 :दशहरा मे जरूर करे ये चमत्कारी उपाय ,खूब बरसेगी माँ लक्ष्मी की कृपा

इस संगठन की सबसे प्रमुख इकाई सुरक्षा परिषद् की पहली बैठक 17 जनवरी 1946 को लंदन में हुई, जिसमें कार्रवाई के नियम अपनाए गए। दुनिया में शांति व सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा परिषद् के पास जरूरी कदम उठाने और दंडित करने का अधिकार है। सुरक्षा परिषद् के पास ही संयुक्त राष्ट्र के नये सदस्य बनाने का भी अधिकार है।

24 जनवरी 1946 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अपना पहला प्रस्ताव पारित किया, जिसका मुख्य लक्ष्य परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल पर जोर देना और महाविनाश के हथियारों के उन्मूलन के लिए प्रयास करना था। 1 फरवरी 1946 को नॉर्वे के ट्रिग्वे ली संयुक्त राष्ट्र के पहले महासचिव बने और 1948 में फिलिस्तीन में पहला संयुक्त राष्ट्र निगरानी मिशन स्थापित किया गया। अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में इसका मुख्यालय स्थापित किया गया।

इससे जुड़ी यूनेस्को, यूनिसेफ, विश्व स्वास्थ्य संगठन, आईएलओ, एफएओ जैसी संस्थाओं ने दुनिया की बेहतरी की दिशा में अपनी छाप छोड़ी है लेकिन स्थापना के दशकों बाद संयुक्त राष्ट्र जैसी संस्था में सुरक्षा परिषद् सहित ढांचागत और कार्यशैली के स्तर पर व्यापक सुधार की जरूरत महसूस की जा रही है।

अन्य अहम घटनाएंः

पढ़ें :- राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 153वीं जयंती आज, राष्ट्रपति मुर्मू ने देश की जनता को दी बधाई

1905ः भारत के प्रमुख गणितज्ञ दत्तात्रेय रामचंद्र कारपेकर का जन्म।

1917ः दक्षिण भारतीय सिनेमा के मशहूर अभिनेता से प्रमुख राजनीतिज्ञ बने एमजी रामचंद्रन का जन्म।

1918ः जाने-माने हिंदी फिल्म निर्देशक कमाल अमरोही का जन्म।

1923ः हिंदी से प्रमुख साहित्यकार रांगेय राघव का जन्म।

1941ः अंग्रेजों को चकमा देकर नेताजी सुभाषचंद्र बोस कलकत्ता से जर्मनी के लिए रवाना।

पढ़ें :- Viral Video :उम्र की परवाह किए बिना 64 साल की दादी ने किया गजब का डांस,Video देख लोग हुये दंग

1945ः हिंदी फिल्मों के मशहूर गीतकार व पटकथा लेखक जावेद अख्तर का जन्म।

1987ः टाटा फुटबॉल अकादमी की शुरुआत।

1989ः कर्नल जेके बजाज उत्तरी ध्रुव पर पहुंचने वाले पहले भारतीय बने।

2010ः बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री ज्योति बसु का निधन।

2014ः हिंदी व बांग्ला फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री सुचित्रा सेन का निधन।

2020ः भारतीय क्रिकेट टीम के बाएं हाथ के महान स्पिन गेंदबाज बापू नादकर्णी का निधन।

पढ़ें :- घर जाकर सुकन्‍या समृद्धि खाता खोलेंगे डाककर्मी, नवरात्री में शुरु किया अभियान

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...