1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Agustawestland Chopper Scam : अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में लिप्त थे वायु सेना के कई वरिष्ठ अधिकारी- ED

Agustawestland Chopper Scam : अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में लिप्त थे वायु सेना के कई वरिष्ठ अधिकारी- ED

चार्जशीट में क्रिश्चियन मिशेल, राजीव सक्सेना, अगस्ता वेस्टलैंट इंटरनेशनल के डायरेक्टर जी सापोनारो और वायुसेना के पूर्व प्रमुख एसपी त्यागी के रिश्तेदार संदीप त्यागी समेत 13 को आरोपी बनाया गया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 04 फरवरी। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में आरोपी क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका का दिल्ली हाईकोर्ट में विरोध किया है। साथ ही ये भी खुलासा किया कि इस घोटाले में भारतीय वायु सेना के कई वरिष्ठ अधिकारी शामिल थे।

पढ़ें :- Jharkhand : झारखंड का राजनीतिक पारा 50 के पार

ED ने कहा कि ब्रिटिश कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड से खरीदे गए कई हेलीकॉप्टर बेकार पड़े हुए थे, क्योंकि वो लद्दाख जैसी ऊंचाई में नहीं उड़ सकते थे। इसके बावजूद अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी से खरीदारी करने के लिए हेलीकॉप्टर की विशेषज्ञता की शर्तों में बदलाव किया गया। ऐसा करके देश की सुरक्षा के साथ समझौता किया गया। ED ने कहा कि मिशेल के जरिए अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी की ओर से कई प्रभावशाली व्यक्तियों को रिश्वत दी गई ताकि हेलीकॉप्टर की डील हो सके।

मिशेल ने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर की

ईडी और CBI दोनों की ओर से दर्ज मामलों में मिशेल ने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर कर रखी है। पिछले 20 जनवरी को हाईकोर्ट ने मिशेल की CBI से जुड़े केस में दाखिल जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया था। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने CBI के वकील DP सिंह से पूछा था कि आप ये बताएं कि मिशेल को जमानत किन शर्तों पर दी जा सकती है। इस पर DP सिंह ने कहा था कि मिशेल ने दो बार संयुक्त अरब अमीरात भागने की कोशिश की। उन्होंने कहा था कि जिस तरह से ब्रिटिश सरकार मिशेल की मदद कर रही है, उसे देखते हुए उसके भागने की आशंका है।

मिशेल ने एक बिचौलिये का काम किया- DP सिंह

पढ़ें :- Money Laundering Case: आर्थर रोड जेल से ईडी की कस्टडी में शिफ्ट किए गए अनिल देशमुख

वकील DP सिंह ने मिशेल की अंतरिम जमानत याचिका खारिज करने के जस्टिस मुक्ता गुप्ता के आदेश का हवाला दिया, जिसमें कहा गया था कि मिशेल के भागने की संभावना है और उसकी समाज में जड़ें नहीं है। CBI ने 12 जनवरी को मिशेल की जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा था कि वो जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। सुनवाई के दौरान डीपी सिंह ने कहा था कि मिशेल ने एक बिचौलिये का काम किया। उसने इस घोटाले में कुछ करारों के लिए पैसे लिए। वो जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। उन्होंने इटली की एक कोर्ट में मिशेल के बयान का जिक्र किया था, जिसमें मिशेल ने कहा था कि उसने झूठे करारों पर अगस्ता वेस्टलैंड के आधिकारिक प्रतिनिधि के तौर पर हस्ताक्षर किए थे।

CBI और ED को नोटिस जारी हुआ था

कोर्ट ने 19 जुलाई 2021 को मिशेल की जमानत याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए CBI और ED को नोटिस जारी किया था। सुनवाई के दौरान जोसेफ ने कहा था कि इस मामले के सभी आरोपियों को जमानत मिल चुकी है। मिशेल 4 दिसंबर 2018 से हिरासत में है। उन्होंने कहा था कि आरोपी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग वाले आरोप कानून में संशोधन के बाद लगाए गए, इसलिए ये उसके खिलाफ लागू नहीं होते हैं।

घोटाले में ED ने मिशेल को जनवरी 2019 में गिरफ्तार किया था

राऊज एवेन्यू कोर्ट ने 18 जून, 2021 को मिशेल की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। 3600 करोड़ रुपये के इस घोटाले में ED ने मिशेल को जनवरी 2019 में गिरफ्तार किया था। मिशेल को दुबई से प्रत्यर्पित कर दिसंबर 2018 में भारत लाया गया था। 23 अक्टूबर 2020 को कोर्ट ने CBI की ओर से दायर पूरक चार्जशीट पर संज्ञान लिया था। चार्जशीट में 13 को आरोपित बनाया गया है। 19 सितंबर 2020 को CBI ने पूरक चार्जशीट दाखिल की थी।

पढ़ें :- Money Laundering Case: ED के सामने पेश नहीं हुए अनिल देशमुख के बेटे ऋषिकेश, मांगी मोहलत

चार्जशीट में क्रिश्चियन मिशेल, राजीव सक्सेना, अगस्ता वेस्टलैंट इंटरनेशनल के डायरेक्टर जी सापोनारो और वायुसेना के पूर्व प्रमुख एसपी त्यागी के रिश्तेदार संदीप त्यागी समेत 13 को आरोपी बनाया गया है। इस चार्जशीट में पूर्व सीएजी और पूर्व रक्षा सचिव शशिकांत शर्मा को आरोपी नहीं बनाया गया है, क्योंकि उनके खिलाफ अभियोजन चलाने के लिए अभी CBI को कोई स्वीकृति नहीं मिली है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...