Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. ED Raid on jharkhand
  3. ED ने निलंबित IAS ऑफिसर पूजा सिंघल की 82 करोड़ की संपत्ति को किया कुर्क

ED ने निलंबित IAS ऑफिसर पूजा सिंघल की 82 करोड़ की संपत्ति को किया कुर्क

निलंबित आईएएस अधिकारी को खूंटी जिले में मनरेगा फंड के कथित गबन और कुछ अन्य संदिग्ध वित्तीय लेनदेन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था. सिंघल फरवरी 2009 और जुलाई 2010 के बीच खूंटी की डिप्टी कमिश्नर के पद पर तैनात थीं.

By Ruchi Kumari 

Updated Date

ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में झारखंड की निलंबित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के कई संपत्तियों को कुर्क कर लिया है. बताया जा रहा है कि सिंघल के अस्पताल, डायग्नोस्टिक सेंटर, 82.77 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति कुर्क की गई है. निलंबित अधिकारी के खिलाफ मनरेगा फंड के गलत इस्तेमाल के संबंध में मामले दर्ज हैं. निलंबित आईएएस अधिकारी को खूंटी जिले में मनरेगा फंड के कथित गबन और कुछ अन्य संदिग्ध वित्तीय लेनदेन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था.इन संपत्तियों में एक सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, 1 डायग्नोस्टिक सेंटर और दो लैंड पार्सल शामिल हैं. जो संपत्ति कुर्क हुई है, उसमें एक पल्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल और दूसरा पल्स डायग्नोस्टिक एन्ड इमेजिंग सेंटर है. इसके अलावा सिंघल के पति, उनके अकाउंटेंट और चार जूनियर इंजीनियर भी ईडी के रडार पर हैं.

पढ़ें :- Jharkhand news: गुमला में कोर्ट के मुंशी की गला रेत कर हत्या, आक्रोशित परिजनों ने शव रख कर टावर चौक को किया जाम

जिस मनरेगा घोटाले के मामले में निलंबित आईएएस पूजा सिंघल जेल में बंदल हैं, वो झारखंड के खूंटी जिले से जुड़ा हुआ है. पूजा घोटाले के वक्त फरवरी 2009 और जुलाई 2010 के बीच खूंटी की डिप्टी कमिश्नर के पद पर तैनात थीं. पूजा पर आरोप है कि बिना काम के ही मनरेगा योजना का पैसा निकाल लिया गया. हालांकि राज्य सरकार ने इस मामले में जांच के बाद पूजा सिंघल को क्लीन चिट दे दी थी. जिस वक्त पूजा सिंघल को क्लीन चिट दी गई, उस वक्त झारखंड में रघुवर दास की सरकार थी.
11 मई को हुई थी पूजा सिंघल की गिरफ्तारी

ईडी को जांच के दौरान पूजा सिंघल के पास आय से अधिक संपत्ति मिली. ईडी ने मनरेगा घोटाले के मामले में 6 मई को पूजा सिंघल समेत उनके करीबियों को करीब 25 ठिकानों पर छापा मारा था. पूजा को मामले में 11 मई को गिरफ्तार किया गया था, जिसके बाद 25 मई को उन्हें जेल भेज दिया गया. 27 सितंबर को खराब स्वास्थ्य के चलते रिम्स में भर्ती कराया गया था. हालांकि 27 नवंबर को एक बार फिर उन्हें जेल भेज दिया गया.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com