1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. उप्र : नाव दुर्घटना में लापता आठ और शव मिले, अब तक यमुना नदी से 11 शव बरामद

उप्र : नाव दुर्घटना में लापता आठ और शव मिले, अब तक यमुना नदी से 11 शव बरामद

मरका थाना क्षेत्र में गुरुवार नाव दुर्घटना में लापता लोगों की तलाश लगातार जारी है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल छह टीमें यमुना नदी में स्टीमर और नाव से बचाव कार्य तेजी से हो रहा है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

बांदा, 13 अगस्त 2022। जनपद के मरका थाना क्षेत्र में गुरुवार को हुए नाव दुर्घटना में लापता लोगों की तलाश लगातार बचाव दल के द्वारा जारी है। इस हादसे में शुक्रवार को एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल छह टीमें यमुना नदी में स्टीमर और नाव के जरिए युद्ध स्तर पर जुटी रही, लेकिन एक भी शव बरामद नहीं हुआ था।

पढ़ें :- NIA ने टेरर फंडिंग के सिलसिले में देशभर में PFI के ठिकानों पर छापेमारी की, 100 से ज्यादा गिरफ्तार

वही, देर शाम नदी के उस पार फतेहपुर जनपद के किशनपुर थाना क्षेत्र में यमुना नदी में आधा दर्जन शव उतराते हुए मिले। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने पहुंचकर शवों को बरामद कर लिए। इस बीच इसी इलाके में दो और शनिवार को बरामद होने की सूचना मिली है जिससे अब तक लापता लोगों में 11 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं। अभी भी एनडीआरएफ और एसटीआरएफ की टीम यमुना नदी में शवों को खोजने में जुटी हैं। पुलिस के मुताबिक नाव में घटना के वक्त 32 लोग सवार थे, जबकि स्थानीय लोगों की माने तो इससे काफी अधिक लोग नाव में सवार थे।

उल्लेखनीय है कि, गुरुवार को लगभग 50 सवारियों से भरी नाव तेज हवाओं के चलते मरका थाना क्षेत्र में यमुना नदी में पलट गई थी। इनमें से 15 लोगों को बचा लिया गया था जबकि लगभग दो दर्जन लोग लापता बताए जा रहे हैं। इनमें से 3 लोगों के शव घटना के कुछ घंटे बाद बरामद हो गए थे और अब फतेहपुर के किशनपुर थाना क्षेत्र में नरौली किशनपुर और मझिगवां के घाटों के आसपास आधा दर्जन शव देर शाम बरामद हुए हैं। शनिवार को भी 2 शव इसी यमुना नदी के इलाके से मिलने की सूचना है। इस तरह लापता लोगों के 11 शव अब तक बरामद हो चुके हैं।

ग्रामीणों के मुताबिक आज फतेहपुर की सीमा के किशनपुर में जाल डाल कर प्रशासन ने शवों की खोजबीन शुरू कराई तो आठ डेड बॉडी हाथ लगी हैं। किशनपुर पुलिस ने गोताखोरों की मदद से रेस्क्यू ऑपरेशन चला रखा है। एक युवक की पहचान हो गई है जो जयचंद पुत्र प्रेमचंद निवासी मैकुवापुर थाना अशोथर का रहने वाला है। बाकी शवों की शिनाख्त करने में जिला प्रशासन बांदा जनपद के सहयोग से आगे की कार्रवाई कर रहा है।

लापता लोगों की सूची

पढ़ें :- इंस्टाग्राम रील बनाने से रोकने पर बहन ने किया भाइयों का गला घोंटने का प्रयास, बाद में पहुंची जेल

मरका गांव निवासी माया (40) व उसका पुत्र महेंद्र (2), गौरी ताला (मरका) गांव की उजिरिया (40), असोथर गांव निवासी करन (15), फुलुवा (48) व मुन्ना (36), फतेहगंज गांव निवासी जयचंद्र (19), समगरा गांव निवासी रामकरन (45), सरजो का डेरा (मरका) निवासी प्रीति (20), फतेहपुर के लक्ष्मणपुर गांव निवासी राजू (25), मुड़वारा गांव की गीता (36), कुमेढ़ा गांव की सीमा (40), निभौर गांव निवासी सीता व बाबू आदि शामिल हैं।

नाव में 32 लोग थे सवार, चार के शवों की खोज बाकी : एसपी

इस बारे में पुलिस अधीक्षक अभिनंदन ने बताया कि अब तक कुल 11 शव बरामद हो चुके हैं। नाव में कुल 32 लोग सवार थे। इनमें से 17 लोगों को पहले बचा लिया गया था। तीन लोगों की डेड बॉडी उसी दिन बरामद हो गई थी। आठ लोगों के शव आज किशनपुर थाना क्षेत्र में बरामद की गई है। इस तरह अब कुल लापता लोगों की संख्या चार है, जिनकी तलाश के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम फतेहपुर के दादौंघाट में सर्च ऑपरेशन में लगी है। एसपी के कहना कि यमुना नदी का बहाव दादौंघाट घाट में डाउन है। यहीं पर आज आठ लोगों के शवों को बरामद किया गया है इसीलिए इस क्षेत्र में एसडीआरएफ और एनडीआरएफ के अलावा लोकल पुलिस, जल पुलिस और गोताखोरों की मदद से शवों को खोजने में युद्ध स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है। जल्दी ही शेष चार लोगों की लाशें बरामद हो जाएंगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...