1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. हैदराबाद के स्कूल में प्रिंसिपल के ड्राइवर ने 4 साल की बच्ची का किया यौन शोषण, गिरफ्तार

हैदराबाद के स्कूल में प्रिंसिपल के ड्राइवर ने 4 साल की बच्ची का किया यौन शोषण, गिरफ्तार

Hyderabad rape horror: पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, ड्राइवर रजनीकुमार पिछले दो महीनों से कथित तौर पर लड़की का यौन शोषण कर रहा है। माता-पिता ने अपनी बेटी के व्यवहार में बदलाव देखा और सोमवार को पता चला कि वह उदास थी और रो रही थी।

By रुचि उपाध्याय 
Updated Date

Hyderabad rape case: एक दिल दहला देने वाली घटना हैदराबाद से सामने आ रही है जहां के बंजारा हिल्स इलाके में 4 साल की एक बच्ची का उसके प्रिंसिपल के ड्राइवर ने कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया। घटना एक निजी स्कूल की है, जहां बच्ची लोअर किंडरगार्टन की छात्रा थी।

पढ़ें :- West Bengal: पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना में दर्दनाक हादसा ,हॉस्टल में 10 स्टूडेंट्स करंट लगने से घायल,5 छात्रों को अस्पताल में कराया गया भर्ती

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, ड्राइवर रजनीकुमार पिछले दो महीनों से कथित तौर पर लड़की का यौन शोषण कर रहा है। माता-पिता ने अपनी बेटी के व्यवहार में बदलाव देखा और सोमवार को पता चला कि वह उदास थी और रो रही थी।

पुलिस ने कहा कि ड्राइवर कथित तौर पर डिजिटल क्लास रूम में आता रहता था और बच्चों को परेशान करता था, पुलिस ने कहा कि कई बच्चे उससे डरते थे।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी जोएल डेविस के मुताबिक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, लड़की की मां ने कहा: “मेरी बेटी उदास थी और ज्यादा बात नहीं कर पा रही थी। वह मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान थी। उसे (आरोपी को) सार्वजनिक रूप से नग्न पीटा जाना चाहिए। प्रिंसिपल को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए।’

पढ़ें :- मेरठ की शुगर फैक्ट्री में लगी भीषण आग, टरबाइन फटने से चीफ इंजीनियर की मौत, 6 कर्मचारी झुलसे, कई घायल

लगातार माता-पिता के पूछने के बाद उसने रजनी कुमार द्वारा स्कूल में यौन शोषण के बारे में माता-पिता को बताया, तो उसके माता-पिता और रिश्तेदार डीएवी स्कूल पहुंचे।

उन्होंने चालक को पकड़ लिया और कथित तौर पर लाठियों से उसकी पिटाई कर दी। घटना की जानकारी मिलते ही बंजारा हिल्स पुलिस स्कूल पहुंची और चालक को हिरासत में ले लिया. बंजारा हिल्स पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और निगरानी कैमरों से फीड की पुष्टि कर रही है।

“हमने स्कूल को जो डोनेशन दिया है, उसे वापस किया जाना चाहिए क्योंकि हम अपनी बेटी को फिर से उस स्कूल में नहीं भेजेंगे। यह एक प्रतिष्ठित स्कूल हो सकता है, लेकिन प्रिंसिपल खुद अच्छे नहीं हैं। उन्होंने किस तरह के लोगों को काम पर रखा है? आरोपी को इस तरह से सजा मिलनी चाहिए कि कोई भी इस तरह के जघन्य अपराध करने की हिम्मत न करे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...