1. हिन्दी समाचार
  2. झारखंड
  3. झारखंड कैबिनेट का बड़ा फैसला ,OBC आरक्षण 27 फीसदी करने को दी मंजूरी

झारखंड कैबिनेट का बड़ा फैसला ,OBC आरक्षण 27 फीसदी करने को दी मंजूरी

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य में 1932 का खतियान लागू होगा ,OBC आरक्षण के साथ साथ SC-ST रिजर्वेशन भी बढ़ेगा.

By Ruchi Kumari 
Updated Date

झारखंड कैबिनेट ने बुधवार को बड़ा फैसला लेते हुए ओबीसी आरक्षण 27 फीसदी करने को मंजूरी दी है. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि सरकार ने बड़े पैमाने पर कई ऐतिहासिक निर्णय लिए. सरकार ने निर्णय लिया है कि राज्य में 1932 का खतियान लागू हो और OBC को 27% आरक्षण मिले और कर्मचारियों को उनका अधिकार मिले.लोगों ने दोबारा इस कैबिनेट को सराहा है.
सीएम ने कहा कि इस सरकार को कोई हिला नहीं सकता. सभी के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं, सभी के साथ सरकार न्याय करेगी. हमारे विपक्ष के साथी वातावरण में दूषित हवाओं को फैलाने का प्रयास कर रहे हैं जिससे हमारे कर्मचारी काफी डरे हुए हैं.

पढ़ें :- Maruti Suzuki ने अपनी फ़्लैगशिप कार Grand Vitara भारत में लॉंच कर दी, जानिए इनकी कीमत और फीचर्स के बारे में

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने बुधवार शाम कैबिनेट की बैठक में आरक्षण और डोमिसाइल पॉलिसी पर बड़े फैसले लिये हैं. राज्य में पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के साथ-साथ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को मिलने वाले आरक्षण में वृद्धि का प्रस्ताव पारित किया गया है. स्वीकृत प्रस्ताव के अनुसार पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को मिलने वाले आरक्षण को 14 प्रतिशत से बढ़ाकर 27 प्रतिशत किया जायेगा.

अनुसूचित जाति (एससी) को मिलने वाला आरक्षण 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत और अनुसूचित जनजाति (एसटी) का आरक्षण 26 से बढ़ाकर 28 प्रतिशत किया जायेगा. इसके अलावा अत्यंत पिछड़ा वर्ग (इडब्ल्यूएस) के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है. इस तरह कुल मिलाकर राज्य में अब आरक्षण का प्रतिशत 50 से बढ़कर 77 हो जायेगा.

ये फैसले बदल देगें राजनीतिक माहौल

बता दें कि, झारखंड कैबिनेट के इन दोनों फैसलों को राज्य की मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों के बीच बेहद अहम माना जा रहा है. झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और राजद तीनों सत्ताधारी पार्टियों ने अपने चुनावी घोषणापत्र में भी पिछड़ों के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण का वादा किया था.

पढ़ें :- गुलाम नबी आजाद ने जम्मू से लॉन्च किया अपनी पार्टी, नाम रखा- डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...