1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand : CM हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन को भी चुनाव आयोग का नोटिस, निशिकांत दूबे के ट्वीट पर सियासी संग्राम

Jharkhand : CM हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन को भी चुनाव आयोग का नोटिस, निशिकांत दूबे के ट्वीट पर सियासी संग्राम

बीजेपी सांसद निशिकांत दूबे ने ट्विटर कर लिखा है कि- एक नई सूचना दे रहा हूं। चुनाव आयोग ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के छोटे भाई और विधायक बसंत सोरेन की सदस्यता खत्म करने को लेकर स्पष्टीकरण पूछा है। इस नोटिस की प्रतिलिपि झारखंड बीजेपी को भी दी गई है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 05 मई। झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। जहां खदान पट्टा अपने नाम पर लेने के मामले में चुनाव आयोग ने उन्हें अयोग्‍य ठहराने को लेकर पहले ही नोटिस दिया है। तो वहीं अब उनके विधायक भाई बसंत सोरेन को भी माइंस कंपनी का पार्टनर होने की शिकायत पर निर्वाचन आयोग का नोटिस आया है। बीजेपी सांसद निशिकांत दूबे ने ट्विटर कर लिखा है कि- एक नई सूचना दे रहा हूं। चुनाव आयोग ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के छोटे भाई और विधायक बसंत सोरेन की सदस्यता खत्म करने को लेकर स्पष्टीकरण पूछा है। इस नोटिस की प्रतिलिपि झारखंड बीजेपी को भी दी गई है। बीजेपी इस मामले में शिकायतकर्ता है।

पढ़ें :- IAS Pooja Singhal Case : झारखंड और बिहार में 7 ठिकानों पर ED का छापा, पूजा के करीबी विशाल चौधरी के ठिकानों पर रेड, जानें और किस के ठिकानों पर हुई छापेमारी

बतादें कि इससे पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को चुनाव आयोग ने नोटिस भेजकर पूछा है कि क्‍यों ने आपके खिलाफ कार्रवाई की जाए। नोटिस में 10 मई तक सीएम हेमंत सोरेन को अपना पक्ष रखने को कहा गया है। आयोग के मुताबिक जन प्रतिनिधित्‍व कानून की धारा 9ए के तहत हेमंत सोरेन को विधानसभा की सदस्‍यता से अयोग्‍य ठहराया जा सकता है। वहीं बीजेपी पूरे मामले में बेहद आक्रामक है। बीजेपी नेता बाबूलाल मरांडी, दीपक प्रकाश और अर्जुन मुंडा सीएम हेमंत सोरेन से इस्‍तीफा की मांग कर चुके हैं।

पढ़ें :- Jharkhand : अवैध खनन को लेकर एक्शन में सोरेन सरकार, 2 खदान सील, 2 को नोटिस, एक क्रशर प्लांट नष्ट

गौरतलब है कि पूर्व मुख्‍यमंत्री और बीजेपी के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष रघुवर दास ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनके भाई विधायक बसंत सोरेन के खिलाफ खदान पट्टा मामले की शिकायत राज्‍यपाल रमेश बैस से की थी। सीएम हेमंत सोरेन पर रघुवर दास ने अपनी पत्‍नी कल्‍पना सोरेन के नाम पर 11 एकड़ सरकारी जमीन आवंटित करने का भी गंभीर आरोप लगाया था। राज्‍यपाल ने इस पूरे मामले की जांच के लिए चुनाव आयोग को सारे दस्‍तावेज भेज दिए थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...