1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand : इंडिगो ने रांची एयरपोर्ट पर दिव्यांग को फ्लाइट में चढ़ने से रोका, केंद्रीय मंत्री ने दिए जांच के आदेश

Jharkhand : इंडिगो ने रांची एयरपोर्ट पर दिव्यांग को फ्लाइट में चढ़ने से रोका, केंद्रीय मंत्री ने दिए जांच के आदेश

इस मामले में एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस कंपनी का कहना है कि बच्चा एग्रेसिव था। स्टाफ ने आखिरी समय तक उसके शांत होने का इंतजार किया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 09 मई। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को कहा कि वो खुद इंडिगो एयरलाइंस की उस घटना की जांच करेंगे, जिसमें शनिवार को रांची हवाई अड्डे पर अपने माता-पिता के साथ एक दिव्यांग बच्चे को विमान में चढ़ने से रोक दिया गया था। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस तरह के व्यवहार के लिए जीरो टॉलरेंस नीति है। जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

पढ़ें :- Jharkhand : बढ़ती महंगाई को लेकर सीएम हेमंत सोरेन का बड़ा बयान- अब तो लोगों को भूखे मरने के लिए भी तैयार होना पड़ेगा

मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी- सिंधिया

पढ़ें :- Jharkhand : सोरेन सरकार का फैसला- नए विधानसभा और हाई कोर्ट निर्माण की जांच करेगा न्यायिक आयोग

बतादें कि रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर शनिवार को रांची-हैदराबाद उड़ान में पहले इंडिगो के कर्मियों ने एक दिव्यांग बच्चे को फ्लाइट पर चढ़ने से इसलिए रोक दिया कि वो घबराया हुआ था। जिसके बाद बच्चे के माता-पिता ने भी फ्लाइट में जाने से इनकार कर दिया था। मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री को ट्वीट किया गया था। इस मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री ने जांच के आदेश दिए हैं। इसकी रिपोर्ट भी मांगी गई है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एयरलाइन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि इस तरह के बर्ताव को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसी भी इंसान को इस तरह की परिस्थिति से नहीं गुजरना चाहिए। मैं खुद इस मामले की जांच कर रहा हूं, जिसके बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

DGCA ने एयरलाइंस कंपनी से रिपोर्ट मांगी

वहीं आदेश दिए जाने के बाद DGCA ने एयरलाइंस कंपनी से रिपोर्ट मांगी है। इस मामले में एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस कंपनी का कहना है कि बाकी यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए एक दिव्यांग बच्चा 7 मई को अपने परिवार के साथ फ्लाइट में सवार नहीं हो सका। वो एग्रेसिव था। स्टाफ ने आखिरी समय तक उसके शांत होने का इंतजार किया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...