1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand : निशिकांत दुबे के ट्वीट से हड़कंप- IAS पूजा सिंघल के बाद CM सोरेन के सचिव से ED कर सकती है पूछताछ, जानें क्या है वजह?

Jharkhand : निशिकांत दुबे के ट्वीट से हड़कंप- IAS पूजा सिंघल के बाद CM सोरेन के सचिव से ED कर सकती है पूछताछ, जानें क्या है वजह?

विनय चौबे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सचिव हैं। ED झारखंड में शराब कारोबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले की जांच में जुटी है। प्रेम प्रकाश और शराब कारोबारी योगेंद्र तिवारी बदली हुई उत्पाद नीति के दो जाने माने लाभार्थी माने जा रहे हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 24 जून। झारखंड में IAS पूजा सिंघल मामला अभी तक शांत भी नहीं हुआ था कि अब एक और मामले में कार्रवाई की दस्तक की संभावना है। ED की टीम जहां IAS पूजा सिंघल मामले में जांच कर रही है। वहीं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सचिव विनय चौबे से भी पूछताछ हो सकती है। ये हम नहीं बल्कि बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने ट्वीट के जरिए जानकारी दी है।

पढ़ें :- झारखंड: मुस्लिम ने अपना नाम बदलकर की हिन्दू नाबालिग से दोस्ती, फिर रेप; सच पता चलने पर की हत्या की कोशिश

शुक्रवार को निशिकांत दुबे ने ट्वीट कर बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि ”जानकारी के अनुसार ED ने झारखंड के मुख्यमंत्री के सचिव विनय चौबे जी को बुलाने का निर्णय लिया है, सचिव महोदय से 1 साल के अंदर तीन बार शराब की नीति बदलने के पीछे की कहानी उनकी ज़ुबानी समझी जाएगी।”

पढ़ें :- Jharkhand : विधायकों से नकदी मिलने का मामला, CID ने एक भवन से बरामद किया 3 लाख रुपए से ज्यादा का कैश

बतादें कि विनय चौबे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सचिव हैं। ED झारखंड में शराब कारोबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले की जांच में जुटी है। प्रेम प्रकाश और शराब कारोबारी योगेंद्र तिवारी बदली हुई उत्पाद नीति के दो जाने माने लाभार्थी माने जा रहे हैं। लेकिन शराब सिंडिकेट के कई और शक्तिशाली लोग भी हैं जिन्होंने नई नीति का लाभ उठाया है। आरोप है कि सोरेन सरकार की पिछली उत्पाद नीति के दौरान अलग-अलग जिलों में शराब के कारोबार को सही कराने के लिए शराब सिंडिकेट द्वारा अलग-अलग शैल कंपनियां चलाई गईं। सिंडिकेट को 24 में से 22 जिलों में विशेष व्यापार के अधिकार मिले। पिछले दिनों ED ने योगेंद्र तिवारी से भी पूछताछ की थी।

गौरतलब है कि 6 मई कि सुबह ED की टीम ने एक साथ पूजा सिंघल के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। छापेमारी में करोड़ों की नगदी सहित अन्य सामान बरामद हुआ था। फिलहाल निलंबित IAS पूजा सिंघल जेल में हैं और ED की टीम मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के करीबी प्रेम प्रकाश और पल्स हॉस्पिटल के मालिक अभिषेक झा से पूछताछ कर रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...